पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

5 जिगरी दोस्त... जिन्होंने साथ मनाया फ्रेंडशिप-डे और एक दिन बाद 4 की मौत, एक की घर में चल रही थी सगाई की तैयारियां और उठ गई अर्थी

3 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक

जयपुर। 5 जिगरी दोस्त... संडे को फ्रेंडशिप-डे मनाया और सोमवार को आमेर जाने का कहकर कार से नागौर निकल गए। नागौर से डॉग खरीदने के बाद जयपुर लौटते समय सोमवार रात 11 बजे नरैना थाना इलाके में उनकी कार सड़क पर अंधेरे में खड़ी ट्रैक्टर-ट्रॉली में घुस गई। टक्कर इतनी भीषण थी कि 4 दोस्तों की मौके पर ही मौत हो गई। पांचवा दोस्त अंकित की जिंदगी के लिए संघर्ष कर रहा है। मृतक में विकास (24), सागर (23), रितेश (22), महेन्द्र सिंह (24) शामिल हैं। जबकि अंकित (26) की हालत गंभीर है।

एक दोस्त की ख्वाहिश पूरी करके लौट रहे थे सभी...

- घूमने के दौरान मृतक महेन्द्र ने डॉगी खरीदने की इच्छा जाहिर की। इसके बाद सभी डॉगी लेने नागौर चले गए, लौटते समय हादसा हुआ। डॉगी भी मर गया।पुलिस ने नरैना के सरकारी अस्पताल में पोस्टमार्टम करवाकर चार शव परिजनों को सौंप दिए। चालक ट्रैक्टर-ट्रॉली छोड़ मौके से फरार है।

विकास-सागर की अटूट दोस्ती..जिए-मरे साथ-साथ..

- झोटवाड़ा के चंद्रशेखर गुर्जर के इकलौते बेटे विकास की 12 अगस्त को सगाई थी।

- सागर के पिता प्रेम कुमार धाबाई के मुताबिक, विकास और सागर ममेरे भाई थे। दोनों की दोस्ती अटूट थी कि वो एक-दूसरे के बगैर कहीं नहीं जाते थे और दोनों की अंतिम यात्रा भी साथ ही निकली।

भूतेश्वर महादेव में गोठ में जाने की कहकर गया था रितेश

जयपुर के झोटवाड़ा इलाके के श्रीराम कॉलोनी में रहने वाला रितेश सोमवार सुबह भूतेश्वर महादेव मंदिर में गोठ में जाने की बात कहकर निकला था। झोटवाड़ा के ही गणेश मंदिर में पुजारी पिता कृष्णगोपाल ने बताया कि क्या पता था कि वह लौटेगा ही नहीं। सोमवार रात मंदिर से आकर खाना खाने बैठे तो बेटे को फोन लगाया। फोन पर रितेश के दाेस्त अंकित ने इतना ही कहा कि अंकल एक्सीडेंट में सब खत्म हो गया। सिर्फ मैं जिंदा बचा हूं।

खबरें और भी हैं...