रिम्स में डेंगू और मलेरिया के 44 मरीज भर्ती

News - शहर में फिर डेंगू-मलेरिया तेजी से फैल रहा है। रिम्स में हर दिन डेंगू-मलेरिया से पीड़ित मरीजों की संख्या बढ़ती जा रही...

Nov 11, 2019, 07:25 AM IST
शहर में फिर डेंगू-मलेरिया तेजी से फैल रहा है। रिम्स में हर दिन डेंगू-मलेरिया से पीड़ित मरीजों की संख्या बढ़ती जा रही है। रिम्स के डेंगू के स्पेशल आइसोलेशन वार्ड में रविवार को मरीजों की संख्या 44 तक पहुंच गई। न केवल जेनरल वार्ड, बल्कि वार्ड के अन्य कमरों में भी मरीजों की संख्या बढ़ जाने से सभी बेड फुल हो गए हैं। इसके कारण अब मरीजों का इलाज बेड सहित जमीन पर भी किया जा रहा है। वहां भर्ती मरीजों ने बताया कि गंभीर हालत में आए दो मरीज की मौत हो गई है। हालांकि आइसोलेशन वार्ड इंचार्ज ने इस मामले पर चुप्पी साध ली। मालूम हो कि कुछ दिनों पहले तक यहां सबसे ज्यादा डेंगू के मरीज गुमला जिले से आ रहे थे। पर अब पूरे राज्य जैसे देवघर, कोडरमा, लातेहार, दुमका, डाल्टेगंज सहित गया आदि जगहों से भी कई मरीज इलाज करवाने रिम्स पहुंच रहे हैं।

बेड फुल होने से अब जमीन पर हो रहा इलाज, डेंगू पीड़ित 2 मरीजों की मौत की भी सूचना

मरीजों की संख्या बढ़ने से इलाज में हो रही परेशानी।

जगुअार, सीआरपीएफ और एसएसबी के जवान भर्ती

डेंगू के स्पेशल आइसोलेशन वार्ड में रांची के भी 9 मरीज भर्ती हैं। इसमें सबसे ज्यादा मरीज हिंदपीढ़ी इलाके से पहुंच रहे हैं। लगभग हर दिन यहां हिंदपीढ़ी के एक-दो मरीज भर्ती हो रहे हैं। इसके अलावा डोरंडा, चर्च रोड, कर्बला चौक, होटवार और हरमू से भी डेंगू से पीड़ित मरीज अपना इलाज करवाने पहुंच रहे हैं। वार्ड के 3 कमरों में लगभग 8 जगुअार, सीआरपीएफ और एसएसबी के भी जवान भर्ती हैं, जो विभिन्न जगहों से अाएं हैं, जिन्हें शहर में ड्यूटी के दौरान डेंगू हुआ था।

मरीज बढ़ने से इलाज में परेशानी

कुछ मरीजों के परिजनों ने वार्ड में दी जा रहीं सेवाओं से असंतुष्ट होकर कहा कि परिजनों से ज्यादा परेशानी मरीजों को झेलनी पड़ रही है। मरीजों की देखरेख सही से नहीं की जा रही है। उन्हें सेवाओं के लिए काफी इधर-उधर दौड़ाया जा रहा है। इसके साथ ही खाने और पीने के पानी की भी अच्छी सुविधा नहीं दी जा रही है। दवा के लिए भी मरीज के परिजनों को परेशन होना पड़ रहा है।

X

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना