--Advertisement--

महेंद्र सिंह धोनी के लिए 5 अप्रैल खास: माही ने आज ही के दिन कॅरियर का पहला शतक पाकिस्तान के खिलाफ लगाया था

अपने शुरूआती चार वनडे मैचों में माही बल्ले से कोई कमाल नहीं दिखा सके थे।

Dainik Bhaskar

Apr 05, 2018, 07:24 PM IST
धोनी ने 5 अप्रैल 2004 को अपना पहला शतक लगाया था।- फाइल धोनी ने 5 अप्रैल 2004 को अपना पहला शतक लगाया था।- फाइल

मुंबई. महेंद्र सिंह धोनी के लिए 5 अप्रैल का दिन बेहद खास है। उन्होंने आज ही के दिन अपने वनडे या यूं कहें इंटरनेशनल क्रिकेट कॅरियर का पहला शतक लगाया था। और वो भी पाकिस्तान के खिलाफ। बता दें कि बल्लेबाजी के लिहाज से धोनी के कॅरियर की शुरूआत कुछ खास नहीं रही थी। अपने शुरूआती चार वनडे मैचों में माही बल्ले से कोई कमाल नहीं दिखा सके थे। इनमें से तीन बांग्लादेश के और एक पाकिस्तान के खिलाफ था। 2004 में कॅरियर के पहले वनडे में तो वो शून्य पर रन आउट हो गए थे। इस मैच में उनके साथ क्रीज पर मोहम्मद कैफ थे।

चार मैचों में 22 रन
- कहा जाता है कि दुनिया में कई चीजें कुछ देरी ही होती हैं। या इंतजार का फल मीठा होता है। धोनी पहले मैच में शून्य पर आउट हुए। इसके बाद के तीन मैचों में वो सिर्फ 22 रन बना सके। हर बार कुछ ऐसा हुआ कि माही का बल्ला नहीं चला। खुद धोनी मान चुके हैं कि उन्हें ये लगने लगा था कि तब उन्हें ऐसा लगा था कि उनका कॅरियर अब शायद इंटरनेशनल क्रिकेट में इतना ही है और उन्हें टीम से बाहर होना पड़ेगा। लेकिन, शायद वक्त को कुछ और ही मंजूर था। एक क्रिकेट स्टार एक धूमकेतू उभरने वाला था- महेंद्र सिंह धोनी।

फिर करिश्मा हुआ?
- विशाखापट्टनम का मैदान। तारीख 5 अप्रैल 2004। पाकिस्तान का खतरनाक बॉलिंग अटैक। टीम इंडिया ने बैटिंग शुरू की। सचिन तेंडुलकर महज 2 रन बनाकर आउट हो गए। टीम का स्कोर था 26 रन। तीसरे नंबर पर बैटिंग करने सौरव गांगुली को आना था। लेकिन दादा ने धोनी को भेजा। और उसके बाद जो हुआ, वो इतिहास बन गया।

सहवाग का साथ और धोनी का कहर
- सचिन के आउट होने के बाद जब माही विकेट पर पहुंचे तो दूसरे छोर पर सहवाग का बल्ला आग बरस रहा था। धोनी-सहवाग ने दूसरे विकेट के लिए 96 रन की पार्टनरशिप की। धोनी का बल्ला गरजा और फिर गरजता ही चला गया। उन्होंने 123 बॉल्स पर 15 चौके और 4 छक्के लगाए। स्कोर बनाया 148 रन। इसके बाद धोनी का कॅरियर कैसे बढ़ा, वो दुनिया जानती है।

राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने कुछ दिनों पहले धोनी को पद्म भूषण से सम्मानित किया था। राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने कुछ दिनों पहले धोनी को पद्म भूषण से सम्मानित किया था।
X
धोनी ने 5 अप्रैल 2004 को अपना पहला शतक लगाया था।- फाइलधोनी ने 5 अप्रैल 2004 को अपना पहला शतक लगाया था।- फाइल
राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने कुछ दिनों पहले धोनी को पद्म भूषण से सम्मानित किया था।राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने कुछ दिनों पहले धोनी को पद्म भूषण से सम्मानित किया था।
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..