Hindi News »Sports »Cricket »Bhaskar Special» महेंद्र सिंह धोनी का पहला शतक, Mahendra Singh Dhoni First ODI Century, Pakistan

महेंद्र सिंह धोनी के लिए 5 अप्रैल खास: माही ने आज ही के दिन कॅरियर का पहला शतक पाकिस्तान के खिलाफ लगाया था

अपने शुरूआती चार वनडे मैचों में माही बल्ले से कोई कमाल नहीं दिखा सके थे।

DainikBhaskar.com | Last Modified - Apr 05, 2018, 07:24 PM IST

  • महेंद्र सिंह धोनी के लिए 5 अप्रैल खास: माही ने आज ही के दिन कॅरियर का पहला शतक पाकिस्तान के खिलाफ लगाया था, sports news in hindi, sports news
    +1और स्लाइड देखें
    धोनी ने 5 अप्रैल 2004 को अपना पहला शतक लगाया था।- फाइल

    मुंबई.महेंद्र सिंह धोनी के लिए 5 अप्रैल का दिन बेहद खास है। उन्होंने आज ही के दिन अपने वनडे या यूं कहें इंटरनेशनल क्रिकेट कॅरियर का पहला शतक लगाया था। और वो भी पाकिस्तान के खिलाफ। बता दें कि बल्लेबाजी के लिहाज से धोनी के कॅरियर की शुरूआत कुछ खास नहीं रही थी। अपने शुरूआती चार वनडे मैचों में माही बल्ले से कोई कमाल नहीं दिखा सके थे। इनमें से तीन बांग्लादेश के और एक पाकिस्तान के खिलाफ था। 2004 में कॅरियर के पहले वनडे में तो वो शून्य पर रन आउट हो गए थे। इस मैच में उनके साथ क्रीज पर मोहम्मद कैफ थे।

    चार मैचों में 22 रन
    - कहा जाता है कि दुनिया में कई चीजें कुछ देरी ही होती हैं। या इंतजार का फल मीठा होता है। धोनी पहले मैच में शून्य पर आउट हुए। इसके बाद के तीन मैचों में वो सिर्फ 22 रन बना सके। हर बार कुछ ऐसा हुआ कि माही का बल्ला नहीं चला। खुद धोनी मान चुके हैं कि उन्हें ये लगने लगा था कि तब उन्हें ऐसा लगा था कि उनका कॅरियर अब शायद इंटरनेशनल क्रिकेट में इतना ही है और उन्हें टीम से बाहर होना पड़ेगा। लेकिन, शायद वक्त को कुछ और ही मंजूर था। एक क्रिकेट स्टार एक धूमकेतू उभरने वाला था- महेंद्र सिंह धोनी।

    फिर करिश्मा हुआ?
    - विशाखापट्टनम का मैदान। तारीख 5 अप्रैल 2004। पाकिस्तान का खतरनाक बॉलिंग अटैक। टीम इंडिया ने बैटिंग शुरू की। सचिन तेंडुलकर महज 2 रन बनाकर आउट हो गए। टीम का स्कोर था 26 रन। तीसरे नंबर पर बैटिंग करने सौरव गांगुली को आना था। लेकिन दादा ने धोनी को भेजा। और उसके बाद जो हुआ, वो इतिहास बन गया।

    सहवाग का साथ और धोनी का कहर
    - सचिन के आउट होने के बाद जब माही विकेट पर पहुंचे तो दूसरे छोर पर सहवाग का बल्ला आग बरस रहा था। धोनी-सहवाग ने दूसरे विकेट के लिए 96 रन की पार्टनरशिप की। धोनी का बल्ला गरजा और फिर गरजता ही चला गया। उन्होंने 123 बॉल्स पर 15 चौके और 4 छक्के लगाए। स्कोर बनाया 148 रन। इसके बाद धोनी का कॅरियर कैसे बढ़ा, वो दुनिया जानती है।

  • महेंद्र सिंह धोनी के लिए 5 अप्रैल खास: माही ने आज ही के दिन कॅरियर का पहला शतक पाकिस्तान के खिलाफ लगाया था, sports news in hindi, sports news
    +1और स्लाइड देखें
    राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने कुछ दिनों पहले धोनी को पद्म भूषण से सम्मानित किया था।
आगे की स्लाइड्स देखने के लिए क्लिक करें
दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Bhaskar Special

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×