झारखंड में 6 माह में 6.15 लाख ठनका गिरे, 171 की जान गई

News - पाॅलिटिकल रिपाेर्टर | रांची पिछले छह माह (1 अप्रैल से 31 सितंबर)के अंदर झारखंड में 6.15 लाख लाइटनिंग स्ट्राइक हुए,...

Nov 10, 2019, 07:55 AM IST
पाॅलिटिकल रिपाेर्टर | रांची

पिछले छह माह (1 अप्रैल से 31 सितंबर)के अंदर झारखंड में 6.15 लाख लाइटनिंग स्ट्राइक हुए, इनसे 171 लोगों की जान चली गई। उधर, बिहार में हुए चार लाख लाइटनिंग स्ट्राइक नेे 221 लोगों को निगल लिया। देश में चार राज्याें में वज्रपात से सबसे ज्यादा माैतें हुई हैं। इसी प्रकार उत्तर प्रदेश में 4.02 लाख लाइटनिंग से 293 लोगों की मृत्यु हुई है, जो देश में सबसे ज्यादा है। मध्यप्रदेश में 11.06 वज्रपात से 248 मौतें हुई हैं। भारतीय मौसम विज्ञान विभाग के महानिदेशक डॉ. एम महापात्रा अाैर क्लाइमेट रेसिलियंट ऑब्जर्विंग सिस्टम प्रमोशन काउंसिल के अध्यक्ष कर्नल संजय श्रीवास्तव ने शुक्रवार काे मौसम भवन नई दिल्ली में वज्रपात सुरक्षित भारत अभियान 2019 से 2021 के पहले दक्षिण- पश्चिम मानसून 2019 लाइटनिंग रिपोर्ट जारी किया। रिपाेर्ट में यह भी कहा गया है कि देश में पिछले छह माह में कुल 90 लाख से ज्यादा वज्रपात हुए, जिसमेंे करीब 1771 लोगों की मौत हुई।

बिहार में 221 लोगों की माैत हुई

जागरूकता की कमी से ज्यादा मौतें हुईं

रिपाेर्ट के मुताबिक, यूपी, एमपी, बिहार व झारखंड में 900 से ज्यादा लोग वज्रपात में मारे गए हैं। कर्नल संजय श्रीवास्तव ने बताया कि इन चार राज्यों में आपदा प्रबंधन संस्थानों की संस्थागत कमजोरी, भारतीय मौसम विज्ञान द्वारा जारी लाइटनिंग फोरकास्ट का सही इस्तेमाल नहीं करना व जनता में जागरूकता की कमी मृत्यु का मुख्य कारण है।

X

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना