--Advertisement--

इन दिग्गजों केे सामने खुद को साबित करने और बड़े फैसले लेने की चुनौती

2018 में 6 दिग्गजों केे सामने खुद को साबित करने और बड़े फैसले लेने की चुनौती है।

Dainik Bhaskar

Jan 04, 2018, 07:17 AM IST
Challenge of proving yourself  in front of these legends

2018 में 6 दिग्गजों केे सामने खुद को साबित करने और बड़े फैसले लेने की चुनौती है। इन दिग्गजों में प्रधानमंंत्री मोदी और राहुल गांधी का नाम भी शामिल है। जहां एक ओर प्रधानमंत्री पर सबकी निगाहें हमेशा रहती हैं वहीं कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी क्या कांग्रेस को रिवाइव कर पाएंगे। इन पर तो हमेशा रहती ही हैं सबकी निगाहें

DainikBhaskar.com आपको बता रहा है कि 6 दिग्गजों के बारे में जिनके सामने खुद को साबित करने और बड़े फैसले लेने की चुनौती है।

Challenge of proving yourself  in front of these legends

अध्यक्ष राहुल की परीक्षा, क्या कर पाएंगे कांग्रेस को रिवाइव?

 

कांग्रेस के नए अध्यक्ष राहुल गांधी के सामने सबसे बड़ी चुनौती है, आठ राज्यों के विधानसभा चुनाव। इनमें कर्नाटक और मेघालय में कांग्रेस की सरकार है। जबकि मध्यप्रदेश, राजस्थान और छत्तीसगढ़ जैसे बड़े राज्यों में भाजपा की सरकार है। 

Challenge of proving yourself  in front of these legends

क्या अंतिम पूर्ण बजट में लोगों को खुश कर पाएंगे जेटली?

 

केन्द्र सरकार इनकम टैक्स नियमों को दुरुस्त करने की तैयारी में है। उसने नए इनकम टैक्स कानून डायरेक्ट टैक्स कोड को भी हरी झंडी दे दी है। वैसे 2019 में लोकसभा चुनाव हैं। इसलिए यह सरकार का आखिरी पूर्ण बजट होगा। क्या वे इस बजट में डायरेक्ट टैक्स कोड को शामिल करेंगे।

Challenge of proving yourself  in front of these legends

क्या इस साल नाकामी के दौर से उबर पाएंगे शाहरुख?

 

2017 में शाहरुख की दो फिल्में रईस और हैरी मेट सेजल आईं। दोनों का कारोबार शाहरुख की प्रतिष्ठा के अनुसार नहीं रहा। पिछले कुछ वर्षों से उनकी फिल्में लगातार कमजोर प्रदर्शन कर रही हैं। ऐसे में क्या अगली फिल्म जीरो से अपने कॅरिअर को फिर दिशा दे पाएंगे?

Challenge of proving yourself  in front of these legends

क्या ए राजा 2जी में बरी होकर फिर बन पाएंगे राजा?

पूर्व दूरसंचार मंत्री ए राजा 2 जी घोटाले के आरोपों से बरी हो गए हैं। हालांकि दक्षिण की राजनीति में क्या वे पहले की तरह वापसी कर पाएंगे, यह बड़ा सवाल है। पहले डीएमके में करुणानिधि के बाद दूसरी पंक्ति के नेताओं में इनका नाम शुमार था। मगर अब उनके लिए खोई साख पाना आसान नहीं होगा।

Challenge of proving yourself  in front of these legends

क्या वर्ल्डकप तक प्रदर्शन बरकरार रख पाएंगे धोनी?

धोनी को वनडे खेलते हुए 13 साल हो चुके हैं। कई बार उनके प्रदर्शन को लेकर सवाल उठे, लेकिन अब सिलेक्टर ये कन्फर्म कर चुके हैं कि धोनी 2019 के विश्वकप में रहेंगे। वर्ष 2017 में उन्होंने 29 मैचों में 60.61 की औसत से 788 रन बनाए हैं। 26 कैच और 13 स्टंपिंग भी की हैंं।

X
Challenge of proving yourself  in front of these legends
Challenge of proving yourself  in front of these legends
Challenge of proving yourself  in front of these legends
Challenge of proving yourself  in front of these legends
Challenge of proving yourself  in front of these legends
Challenge of proving yourself  in front of these legends
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..