--Advertisement--

सफलता से साथ अपनानी जरूरी हैं 3 बातें

जीवन में जब भी सफलता पर उतरें, तीन काम पकड़ना और तीन छोड़ना।

Dainik Bhaskar

Feb 08, 2018, 06:29 AM IST
पं. िवजयशंकर मेहता पं. िवजयशंकर मेहता

सफलता और शोर का गहरा संबंध है। जब आप सफल होते हैं तो स्वयं भी हल्ला करते हैं और दूसरे भी खूब शोर मचाते हैं। उस शोर में प्रशंसा, आलोचना, सर्मथन और विरोध शामिल होता है और इसीलिए आदमी बहक जाता है, भटक जाता है। जीवन में जब भी सफलता पर उतरें, तीन काम पकड़ना और तीन छोड़ना।

पहला काम, सबसे पहले यह बात पकड़ें कि अब जिम्मेदारी और बढ़ गई है। दूसरा, अपने भीतर अपनापन बढ़ाएं, क्योंकि सफल व्यक्ति के पास भीड़ बढ़ती है। तीसरी बात, जिस आधार पर आप सफल हुए हैं, उसके लिए भविष्य की योजना बना लें। वरना आप जड़ हो जाएंगे। सफलता सतत प्रयास तथा गति चाहती है, आपको उसकी गति बनाए रखनी पड़ेगी। इन तीन बातों को पकड़ने के बाद तीन बातें छोड़ना भी हैं। जैसे ही सफल हों, सबसे पहले छोड़िए अहंकार।

इसमें ताकत लगानी पड़ेगी, क्योंकि अहंकार व्यक्तियों के रूप में, परिस्थितियों के रूप में, ख्याति के रूप में आकर इतना ललचाता है कि बड़े-बड़े इसमें उलझ जाते हैं। दूसरी चीज छोड़िएगा आलस्य। सफल व्यक्ति को लगता है अब थोड़ा विश्राम कर लूं और इस विश्राम के भाव में भी आलस्य उतर जाता है जो सफलता को कमजोर करने लगता है। तीसरी चीज़ छोड़ना है अति। अति किसी बात की ठीक नहीं। अहंकार, आलस्य और अति..। सफल होने पर यदि ये तीन चीजें नहीं छोड़ीं तो मानकर चलिए आप शीर्ष पर खड़े हैं, लेकिन किसी भी क्षण लुढ़क भी सकते हैं।

X
पं. िवजयशंकर मेहतापं. िवजयशंकर मेहता
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..