--Advertisement--

हार्दिक की सीडी पर फिसलता गुजरात विधानसभा का चुनाव

भले ही तमाम सर्वेक्षणों ने भाजपा की प्रचंड जीत का दावा कर दिया हो लेकिन, गुजरात चुनाव इस बार भाजपा के लिए कठिन है।

Dainik Bhaskar

Nov 15, 2017, 05:05 AM IST
dainikbhaskar editorial over hardik patel cd
पटेलों के लिए आरक्षण की मांग उठा रहे अनामत आंदोलन के उग्र नेता हार्दिक पटेल की सेक्स सीडी ने गुजरात के चुनाव को एक ऐसी फिसलपट्‌टी पर डाल दिया है, जिस पर चलकर लोकतंत्र बिना कीचड़ लपेटे नहीं उठ सकता। हार्दिक पटेल ने हफ्ते भर पहले यह दावा किया था कि भाजपा के दायरे के उनके मित्र ऐसी सीडी से उन्हें सचेत कर रहे हैं और उनकी बात सही निकली। हालांकि, भाजपा के नेताओं ने अपनी तरफ से ऐसी किसी सीडी के लीक किए जाने से इनकार किया है और केंद्रीय मंत्री मनसुख मनवाडिया ने इसे गुजरात की संस्कृति के विरुद्ध बताया है।
दूसरी तरफ इस सीडी पर गुजराती महिलाओं के सम्मान का सवाल उठाया जा रहा हैै। यह बहस अपने में इसलिए दुखद और खतरनाक है, क्योंकि इस डिजिटल युग में न तो ऐसे कारनामों का कोई अंत है और न सम्मान-अपमान की बहसों का। भले ही तमाम सर्वेक्षणों ने भाजपा की प्रचंड जीत का दावा कर दिया हो लेकिन, गुजरात चुनाव इस बार भाजपा के लिए कठिन है। वहां 22 साल से शासन कर रही भाजपा ने उस राज्य को एक आदर्श राज्य के रूप में प्रस्तुत भले किया हो लेकिन, पटेल जैसे संपन्न माने जाने वाले तबके का असंतोष इस बात का प्रमाण है कि वहां न तो विकास की रफ्तार कायम है और न ही नौकरियां पैदा हो रही हैं। दूसरी तरफ सामाजिक न्याय की स्थिति यह है कि दलित तबके को कभी गाय के नाम पर तो कभी गरबा देखने के कारण पिटाई के साथ हत्या तक का दंड दिया जाता है।
यही वजह है कि पटेलों के उग्र युवा नेता हार्दिक ही नहीं दलित नेता जिग्नेश मेवानी भी भाजपा को हराने के लिए कमर कसे हुए हैं। गुजरात मॉडल में कई कमजोरियां हैं इसीलिए कांग्रेस के उपाध्यक्ष राहुल गांधी को भी मोदी और भाजपा सरकार पर तंज कसने के लिए मसाला मिला गया है। चुनाव परिणाम चाहे जो हो लेकिन, इस दौरान अर्थव्यवस्था और विकास मॉडल पर जो बहस हो रही थी वह स्वस्थ लोकतंत्र की निशानी थी।
विकास की रफ्तार और रास्ते पर भाजपा के भीतर से भी बहस निकल रही थी और कांग्रेस ने देश में उदारीकरण के शिल्पी डॉ. मनमोहन सिंह के माध्यम से भी नोटबंदी और जीएसटी पर बहस छेड़ रखी थी। ऐसे माहौल में इस सीडी का आना ओछी राजनीति का हस्तक्षेप है, जो मीडिया और राजनीति को भले चटपटी खुराक दे दे लेकिन, राजनीति को गंभीरता से हटाकर उसके मुंह पर कालिख पोतकर ही छोड़ेगी।
X
dainikbhaskar editorial over hardik patel cd
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..