पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

हंगर इंडेक्स पर और नीचे जाने के कारण खोजने होंगे

3 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
भूख औरउसके बुरे प्रभावों के बारे में वाॅशिंगटन स्थित इंटरनेशनल फूड पॉलिसी रिसर्च इंस्टीट्यूट (आईएफपीआरआई) ने ग्लोबल हंगर इंडेक्स के पैमाने पर भारत की जो भयानक तस्वीर पेश की है वह पूरे देश के लिए चिंता का विषय होनी चाहिए। पिछले साल इस पैमाने पर भारत की रैंक 97वीं थी, जो इस साल गिरकर 100वीं हो गई है। विडंबना यह है कि तमाम तरह की परेशानियों में घिरे रहने वाले नेपाल (72), म्यांमार(77), श्रीलंका(84) और बांग्लादेश(88) जैसे एशिया के छोटे देश भी हमसे काफी आगे हैं। यहां तक कि उत्तर कोरिया की भी स्थिति हमसे बेहतर है। भारत के राष्ट्रवादियों के लिए सांत्वना की बात इतनी ही है कि क्रमशः 106 और 107 रैंक के साथ पाकिस्तान और अफगानिस्तान हमसे पीछे हैं। इससे भी ज्यादा चौंकाने वाली बात यह है कि इस पैमाने पर 27वें रैंक के साथ चीन हमसे बहुत आगे है। कुपोषण, बाल मृत्यु दर, लंबाई के अनुपात में वजन कम होना और बच्चों की लंबाई बढ़ने जैसे कारकों के आधार पर निकाले गए इस सूचकांक पर कई नज़रिये से विश्लेषण की जरूरत है। सबसे पहले तो यही सोचा जाना चाहिए कि आखिर कौन से वे कारण हैं, जिनके कारण पिछले साल के मुकाबले भारत की रैंक सुधरने की बजाय गिरावट आई है। क्या यह विकास दर में आने वाली कमी का प्रभाव है या फिर नोटबंदी जैसे कड़े आर्थिक फैसले का? इस तात्कालिक कारण की पहचान के साथ ही उन बड़े कारणों पर भी विचार किए जाने की जरूरत है, जिनके नाते पिछले दो दशकों में जीडीपी में 4.5 गुना वृद्धि और प्रति व्यक्ति उपभोग में तीन गुना वृद्धि हासिल करने के बावजूद इस देश में 19 करोड़ लोग कुपोषित हैं। भारत की यह दिक्कत इसलिए नहीं है कि वह खाद्यान्न उत्पादित नहीं करता बल्कि ऐसा इसलिए है, क्योंकि आम आदमी की खाद्यान्न और पोषण सामग्री तक पहुंच नहीं है। उसकी क्रय क्षमता सीमित है इसलिए उसकी थाली सूनी है और उसमें पोषण सामग्री की कमी रहती है। विडंबना यह है कि भारतीय खाद्य निगम के गोदाम अटे पड़े हैं और रेल के डिब्बों में भरा अनाज स्टेशनों पर सड़ रहा है। यह स्थिति भारतीय लोकतंत्र के माथे पर वह कलंक है, जिसे मिटाने के लिए कई बार लोग चीन जैसी तानाशाही का आह्वान करने लगते हैं, जो हमारा अभीष्ट नहीं है। भारत को लोकतांत्रिक प्रणाली के भीतर ही इस कलंक को मिटाने का संकल्प करना होगा। 
 

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- समय की गति आपके पक्ष में रहेगी। सामाजिक दायरा बढ़ेगा। पिछले कुछ समय से चल रही किसी समस्या का समाधान मिलने से राहत मिलेगी। कोई बड़ा निवेश करने के लिए समय उत्तम है। नेगेटिव- परंतु दोपहर बाद परिस...

और पढ़ें