पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

दिन में औसतन 20 हजार शब्द बोलती हैं महिलाएं

9 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
अक्सर पुरुष ये शिकायत करते हैं कि महिलाएं बहुत बातें करती हैं। अब इसका बायोलॉजिकल कारण पता चल गया है कि आखिर महिलाएं बातूनी क्यों होती हैं। वैज्ञानिकों ने पाया कि महिलाओं के दिमाग में ‘लैंग्वेज प्रोटीन’ का स्तर अधिक होता है।
वास्तव में एक महिला दिन में औसतन करीब 20,000 शब्द बोलती है। वहीं पुरुष दिन में करीब 7,000 शब्द ही बोलते हैं। इसके साथ ही सामान्यतौर पर महिलाएं जल्दी बोलती हैं और बोलने के दौरान अधिक दिमाग लगाती हैं। हालांकि, वैज्ञानिक पहले महिलाओं के बातूनी होने का कारण बताने में सक्षम नहीं थे।
मैरीलैंड यूनिवर्सिटी के स्कूल ऑफ मेडिसिन के शोधकर्ताओं द्वारा दी गई यह नई जानकारी जर्नल ऑफ न्यूरोसाइंस में प्रकाशित हुई है। इसमें कहा गया है कि महिलाओं के बातूनी होने के लिए कुछ खास प्रोटीन जिम्मेदार हो सकते हैं। 2001 में पाया गया था कि ‘एफओएक्सपी2’ नाम का जीन भाषा को बनाने के लिए जिम्मेदार होता है।
जे. माइकल बोअर्स के नेतृत्व में बनी टीम ने चूहों के बच्चों पर इस प्रोटीन का परीक्षण किया। परीक्षण में पता चला कि चुहियों की तुलना में चूहे दोगुना चिल्लाए। शोधकर्ताओं ने पाया कि चूहों के दिमाग में एफओएक्सपी 2 प्रोटीन की मात्रा दोगुनी थी। अगले चरण में शोधकर्ताओं ने 24 घंटे पहले मरने वाले चार से पांच साल के बच्चों के दिमाग का विश्लेषण किया। पाया कि लड़कियों के दिमाग में एफओएक्सपी२ प्रोटीन की मात्रा लड़कों से 30 फीसदी अधिक थी।
scienceworldreport.com