पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • Collasion Between Bus And Auto Magic In Bihar

सरकारी बस और मैजिक की टक्कर में दो की मौत, अफीम की खेती का हुआ फर्दाफाश

9 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
भागलपुर। नवगछिया अनुमंडल के परबत्ता थाना क्षेत्र के खगड़ा और परबत्ता गांव के बीच विक्रमशिला पहुंच पथ के समीप रविवार को बिहार राज्य परिवहन निगम की बस और टाटा मैजिक की आमने सामने की जोरदार टक्कर में दो लोगों की मौके पर ही मौत हो गई और ढेड़ दर्जन से अधिक लोग घायल हो गए। इसमें आठ की हालत गंभीर बताई जा रही है। सभी घायलों को जेएलएमएनसी अस्पताल में इलाज के लिए भर्ती कराया गया है। मृतकों में सुनील कुमार बिंद (12) और मैजिक गाड़ी का चालक शामिल है। जिसकी पहचान नहीं हो पाई है। मृतक सुनील कुमार अपने घर जोगीभिट्टी गांव (जगदीशपुर) से अपनी बहन बगरो देवी को उसके ससुराल नारायणपुर पहुंचाने के लिए मैजिक पर सवार था। घायलों में झारखंड व पश्चिम बंगाल के भी लोग शामिल हैं। टक्कर इतनी जबरदस्त थी कि टाटा मैजिक गाड़ी के परखच्चे उड़ गए, जबकि बस पलटी मारते हुए सड़क किनारे करीब दस फीट गहरे गड्डे में गिर गई। घटना की सूचना मिलते ही सदर एसडीओ सुनील कुमार अस्पताल जाकर घायलों से मिले और डॉक्टरों को चिकित्सा में कोई कसर बाकी नहीं रखने का निर्देश दिया।
कैसे घटी घटना
उत्तरी दिनाजपुर (प.बं) जिले के ग्वालापोखर थाना क्षेत्र के फुलवारी गांव निवासी रोबीन पॉल एवं धनवाद (झारखंड) टुंडी, मोहनार निवासी सुभाष कुमार ने बताया कि बस पर सवार होकर पूर्णिया से भागलपुर आ रहा था। घटनास्थल पर भागलपुर से आ रही मैजिक गाड़ी से जोरदार टक्कर मार दी। इसके बाद क्या हुआ उसे पता नहीं। होश आने पर स्वंय को अस्पताल में पाया।
ये हैं घायल
मुन्नीलाल मिश्र और नंदू सिंह (सारंडा, गिरीडीह), धमेन्द्र कुमार (सुखाड़, रतवारा, मधेपुरा), मोतीलाल पासवान (बुद्धन बिगहा, टंडवा, औरंगाबाद), सिंटू पोद्धार (भंवरपुर, बिहपुर, नवगछिया), अंजू देवी (झंडापुर, नवगछिया), गौतम यादव और गिरधारी पासवान, (फतेहपुर, नवगछिया), त्रषि गुप्ता, सिकंदर साह, विजय यादव सहित ढेड़ दर्जन से अधिक लोग शामिल हैं।
50 एकड़ में अफीम की खेती का हुआ फर्दाफाश
भागलपुर। सबौर, घोघा और इस्माइलपुर थाना क्षेत्र के सीमा पर अवस्थित गंगा नदी के बीच चौरासी धार दियारा में करीब पचास एकड़ जमीन में लगी अफीम की खेती का फर्दाफाश नवगछिया एसडीपीओ रामाशंकर राय ने किया है। भागलपुर जिले के इतिहास में पहली बार और इतनी बड़ी मात्रा में अवैद्य रुप से की जा रही अफीम की खेती का फर्दाफाश किया गया है। रविवार की शाम ढलने तक पांच एकड़ अफीम की खेती को नष्ट कर दिया गया है। पूरे इलाके को सील कर पुलिस अफीम के खेतों को अपने कब्जे में लिया है।
कैसे पता चला
एसडीपीओ रामाशंकर राय ने बताया कि उन्हें गुप्त सूचना मिली कि चौरासी धार दियारा इलाके में अफीम की खेती लहलाह रही है। सूचना पर त्वरित कार्रवाई करते हुए घोघा, सबौर और इस्मालपुर थाने की पुलिस के साथ छापेमारी किया। जहां बड़ी मात्रा में अवैद्य रुप से अफीम वरामद किया गया। उन्होंने बताया कि शुरुआती जांच में फिलहाल अफीम फसल से लगी खेत का मालिक एक पूर्व सरपंच का नाम सामने आ रहा है। एसडीपीओ ने बताया कि फसल लगाने का खर्च और उसकी खरीदारी करने वाला पश्चिम बंगाल का व्यापारी है, जिसके नाम का खुलसा करने में अमर्थता जतायी।
जमीन मालिक की पहचान कर उस पर केस दर्ज की जाएगी और अफीम को नष्ट करने की दिशा में कार्रवाई की जाएगी।
प्रेम सिंह मीणा, जिलाधिकारी, भागलपुर