पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • Naxal Leader Of The Country Is Engaged In A Medical College Statue

देश के एक मेडिकल कॉलेज में लगी है नक्सली नेता की प्रतिमा , विरोध के कारण प्रतिमा नहीं हटा पा रही है सरकार

9 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
पटना। यह देश का पहला ऐसा मामला है जब एक नक्सली नेता की प्रतिमा बिहार के दरभंगा मेडकिल कॉलेज में लगा दी गयी। सरकार इस प्रतिमा को हटाना चाहती है पर भारी विरोध के कारण पुलसि के लिए ऐसा करना आसान नहीं रह गया है। इस प्रतिमा को मेडकिल कॉलेज के डॉक्टरों, मेडकिल की पढ़ाई करने वाले छात्रों और स्थानीय लोगों की मदद से लगाया गया है।
इस नक्सली नेता डॉ नर्मिल की मौत आज से कोई 37 साल पहले 29 नवंबर 1975 को भोजपुर जिले के बाबू बांध में सीआरपीएफ के साथ मुठभेड़ में हो गयी थी। उस घटना में मारे जाने वालों में सीपीआइएमएल केमहासचवि जौहर दत्त भी थे। उसी साल 25 जून को देश में इमर्जेसी लगी थी। नक्सलवादी सहार से लेकर मुजफ्फरपुर तक हथियारबंद लड़ाई लड़ रहे थे।
दरभंगा मेडकिल कॉलेज के छात्र रहे डॉ नर्मिल नक्सली विचारों के प्रभाव में आये और पढ़ाई- लिखाई छोड़ दी। इस मेडकिल कॉलेज के एलुमनी एसोसिएशन ने पिछले साल 23 फरवरी को कॉलेज परसिर में डॉ नर्र्मिल की प्रतिमा लगाने का फैसला किया था। प्रतिमा के लिए पैसों का इंतजाम आपस में किया गया। जयपुर
से प्रतिमा बनवायी गयी।
इस साल 27 जनवरी को प्रतिमा स्थापति हुई। नर्मिल द्वार और नर्र्मिल पार्क भी बनाये गये। बुधवार को स्थानीय प्रशासन की ओर से प्रतिमा हटाने की कोशशि की गयी। पर इसकी भनक लगते ही बड़ी तादाद में लोग जमा हो गये। वे प्रतिमा नहीं हटाने देने पर अड़ गये। लोगों का मजलिस देख पुलसि-प्रशासन ने अपने पांव खींच
लिए।
भाजपा कर रही विरोध
भाजपा के स्थानीय विधायक गोपाल जी ठाकुर नक्सली डॉ नर्मिल की प्रतिमा हटाने की मांग को लेकर धरना पर बैठे। दरभंगा शहर के भाजपा विधायक संजय सरावगी ने प्रतिमा हटाने की मांग करते हुए कहा कि एक अपराधी की प्रतिमा
कॉलेज परसिर में कैसे लग सकती है।
भाजपा-कांग्रेस को छोड़ सभी दल एकजुट जदयू, राजद, भाकप, माकपा और भाकपा माले की ओर से प्रतिमा स्थापति करने का समर्थन किया गया है।
माले के धीरेंद्र झा ने कहा: लोकनायक जयप्रकाश नारायण ने आपातकाल के दौरान नक्सलवादियों से हथियार छोड़कर लोकतांत्रकि आंदोलन में शरीक होने का आह्वान किया था। झा ने कहा कि नक्सलियों सामाजकि बदलाव की लड़ाई लड़ रहे थे।
देशभक्त थे डॉ नर्मिल: डॉ पीएन पाल
दरभंगा मेडकिल कॉलेज में पढ़े डॉ पीएन पाल ने कहा: अंग्रेजों की नजर में भगत सिंह अपराधी थे। पर देश के लिए क्रांतिकारी और राष्ट्रभक्त थे। डॉ नर्मिल ने राज्य में सामाजकि परविर्तन के लिए अपनी जान गंवा दी। उनकी
प्रतिमा नहीं हटनी चाहिए ।