पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App
  • Hindi News
  • इनके बनाए एप से पढ़ रहे विदेशों के छात्र,

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

इनके बनाए एप से पढ़ रहे विदेशों के छात्र, 6 देशों के 1000 स्कूलों ने किया सब्सक्राइब

5 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
पटना. बिहार की शैक्षणिक व्यवस्था पर सवाल उठाती मैट्रिक परीक्षा में नकल की तस्वीर विदेशी मीडिया में चर्चित रही। लेकिन इस बार राज्य की प्रतिभा सकारात्मक वजह से कई देशों में चर्चा में है। पटना के रितेश सिंह का बनाया एंड्रॉयड एप “इकोवेशन’ विश्व के कई देशों में स्कूली एजुकेशन का स्वरूप बदल रहा है।
शिक्षक-छात्र के बीच की पट रही दूरी : यह एप अपने जबरदस्त फीचर से शिक्षक व विद्यार्थियों के बीच की दूरी को पाट रहा है। छात्र 24 घंटे इंटरेक्टिव एजुकेशनल सर्विस लेने में भी सक्षम हुए हैं। देश में मुंबई, दिल्ली व कोलकाता के कई बड़े स्कूल भी इस एप का इस्तेमाल कर रहे हैं।
स्कूल से संपर्क बस पलक झपकते
एप “इकोवेशन’ के जरिए छात्र अपने व्यस्त शिक्षकों के साथ इंस्टैंट प्रॉब्लम सॉल्व फीचर से अपनी समस्या का त्वरित समाधान पा रहे हैं। शिक्षक भी विद्यार्थियों को पाठ्य सामाग्री मोबाइल पर बांटने में सक्षम हो रहे हैं। ईमेल और अन्य प्लेटफॉर्म के जरिए यह एप आसानी से शिक्षक व विद्यार्थियों को एक-दूसरे से जोड़ रहा है। रितेश सिंह के एप की अपने देश ही नहीं, पूरी दुिनया में तारीफ हो रही है।
अभिभावक से संपर्क साधना मुश्किल नहीं
एप के जरिए स्कूल प्रशासन भी अभिभावकों से संपर्क में रह सकेंगे। पैरेंट्स-टीचर्स इंटरेक्टिव फीचर के जरिए शिक्षक एक साथ या फिर व्यक्तिगत रूप से अभिभावकों को उनके बच्चों के परफॉर्मेंस व अन्य गतिविधियों की जानकारी दे सकेंगे। अभिभावक भी स्कूल प्रशासन के साथ आसानी से संवाद कर पाएंगे।
कर सकते हैं प्राइवेसी कंट्रोल
एप में अभिभावक, शिक्षक व छात्र प्राइवेसी कंट्रोल भी कर सकते हैं। सभी अलग-अलग एकाउंट से जुड़ सकते हैं। ग्रुप मैसेज के साथ-साथ व्यक्तिगत तौर पर भी संवाद किया जा सकता है। एप के जरिए टेक्स्ट बुक, इमेज, वीडियो, रिमाइंडर, असाइनमेंट आदि शेयर किए जा सकते हैं। एप की खासियत यह है कि इसका साइज कम है और इसे आसानी से मोबाइल पर ऑपरेट किया जा सकता है।
आईआईटी दिल्ली से की पढ़ाई
रितेश मूल रूप से छपरा के रहने वाले हैं। आईआईटी दिल्ली से बीटेक करने के बाद उन्होंने कई महीने विदेशी फर्म में काम भी किया। अपना और कुछ नया करने की इच्छा ने उन्हें एप बनाने की प्रेरणा दी। एप की बढ़ती मांग को देखते हुए रितेश ने इसके नाम से ही कंपनी बनाई। कॉर्पोरेट अफेयर्स के तहत ‘इकोवेशन’ आज एक रजिस्टर्ड कंपनी है। रितेश इसके सीईओ हैं। उनके दोस्त अक्षत गोयल सीटीओ पद संभाल रहे हैं।
टेक्स्ट बुक भी डाली जाएगी
भारत सहित ऑस्ट्रेलिया, कतर, श्रीलंका, साउथ अफ्रीका व मॉरिशस के करीब एक हजार स्कूलों ने इस एप को सब्स्क्राइब किया है। एप का अपग्रेडेड वर्जन जल्द ही लॉन्च होगा। यह स्लो इंटरनेट सर्विस पर भी काम करेगा। इतना ही नहीं, विभिन्न देशों के विभिन्न कक्षाओं के टेक्स्टबुक भी एप पर डाले जाएंगे।

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- आज भविष्य को लेकर कुछ योजनाएं क्रियान्वित होंगी। ईश्वर के आशीर्वाद से आप उपलब्धियां भी हासिल कर लेंगे। अभी का किया हुआ परिश्रम आगे चलकर लाभ देगा। प्रतियोगी परीक्षा की तैयारी कर रहे लोगों के ल...

और पढ़ें