• Hindi News
  • Local
  • Bihar
  • Patna
  • राज्य में दो नए विश्वविद्यालय पटना और पूर्णिया में खुलेंगे

राज्य में दो नए विश्वविद्यालय पटना और पूर्णिया में खुलेंगे / राज्य में दो नए विश्वविद्यालय पटना और पूर्णिया में खुलेंगे

Patna News - राज्यमें दो नए विश्वविद्यालयों के प्रस्ताव को कैबिनेट ने मंजूरी दे दी है। मगध विश्वविद्यालय, गया को विभाजित कर...

Jul 31, 2016, 02:55 AM IST
राज्यमें दो नए विश्वविद्यालयों के प्रस्ताव को कैबिनेट ने मंजूरी दे दी है। मगध विश्वविद्यालय, गया को विभाजित कर पाटलिपुत्र विश्वविद्यालय बनेगा। इसका मुख्यालय पटना में होगा। बीएन मंडल विश्वविद्यालय, मधेपुरा को विभाजित कर पूर्णिया विश्वविद्यालय बनेगा। मुख्यालय पूर्णिया में होगा। इन दोनों की स्थापना के बाद राज्य में कुल 16 विश्वविद्यालय हो जाएंगे। इसके अलावा प्रदेश में दो सेंट्रल यूनिवर्सिटी भी हैं। अब राज्य के 8 प्रमंडल मुख्यालयों में विश्वविद्यालय हो जाएंगे। मुंगेर प्रमंडल में विश्वविद्यालय नहीं है।

कैबिनेट ने बिहार राज्य विश्वविद्यालय संशोधन विधेयक 2016 के प्रारूप को मंजूरी दी। इससे पाटलिपुत्र विवि और पूर्णिया विवि के स्थापना का रास्ता साफ हो गया। दोनों विश्वविद्यालय के लिए विधानमंडल में बिल पास होगा फिर राजभवन की मंजूरी ली जाएगी। उसके बाद शिक्षा विभाग की अधिसूचना जारी होते ही दोनों विवि अस्तित्व में जाएंगे। बिहार राज्य विश्वविद्यालय अधिनियम 1976 में संशोधन करते हुए सरकार ने नए बिल के प्रारूप को मंजूरी दी है। साथ ही, अब तक बिहार विश्वविद्यालय अधिनियम से जुड़े झारखंड के तीन विश्वविद्यालयों को भी हटा दिया गया है। विधेयक में दोनों विश्वविद्यालयों के क्षेत्र का भी उल्लेख किया गया है। जल्द ही कुलपति समेत तमाम पदों के लिए नियुक्ति प्रक्रिया शुरू होने की भी उम्मीद है। -पढ़ें|पेज 5भी

{ टीएमयू, भागलपुर

{ बीआरए बिहार विवि,

मुजफ्फरपुर

{ जेपीयू, छपरा

{ एलएनएमयू, दरभंगा

{ संस्कृत विवि, दरभंगा

{ पटना विवि, पटना

{ सीएनएलयू, पटना

{ आर्यभट्ट विवि, पटना

{ एनओयू, पटना

{ वीकेएसयू, आरा

{ बीएनएमयू, मधेपुरा

{ मगध विवि, गया

{ अरबी-फारसी विवि,

पटना

{ पूर्णिया विवि, पूर्णिया

{ पाटलिपुत्र विवि, पटना

{ पटना में प्रस्तावित

वेटनरी विश्वविद्यालय

पाटलिपुत्र विवि पटना का सातवां और पटना प्रमंडल का आठवां विवि होगा। पटना में पटना विवि, चाणक्या लॉ विवि, नालंदा खुला विवि, आर्यभट्‌ट ज्ञान विवि, अरबी-फारसी विवि और प्रस्तावित वेटनरी विवि का मुख्यालय पहले से है। पाटलिपुत्र विवि सातवां होगा। प्रमंडल का आठवां विवि आरा में है। तत्काल मगध विश्वविद्यालय के शाखा कार्यालय से इस नए विश्वविद्यालय की शुरुआत होगी। पटना विवि के वन सिटी यूनिवर्सिटी के स्वरूप को बरकरार रखते हुए पाटलिपुत्र विवि को इंटर डिस्ट्रिक्ट यूनिवर्सिटी का रूप दिया जाएगा। इसमें पटना नालंदा जिले के मगध विवि से जुड़े कॉलेज होंगे। मगध विवि मगध प्रमंडल में सीमित हो जाएगा। इसके मातहत 19 अंगीभूत कॉलेज हाेंगे। वहीं पाटलिपुत्र विवि में 25 अंगीभूत कॉलेज जाएंगे। इसके अलावा 70 एफिलिएटेड कॉलेज, 3 माइनॉरिटी और 2 डेंटल कॉलेज होंगे।

मगधविवि का दूसरा विभाजन : मगधविवि की स्थापना शिक्षाविद् सत्येंद्र नारायण सिन्हा ने 1962 ईं. में की थी। 1992 ईं. में इसी विवि को विभाजित कर वीर कुंवर सिंह विवि, आरा की स्थापना की गई। अभी मगध विवि में 44 अंगीभूत कॉलेज, 105 एफिलिएटेड कॉलेज हैं। पटना और नालंदा जिले में मगध विवि के 25 अंगीभूत कॉलेज, 70 एफिलिएटेड कॉलेज, 3 माइनॉरिटी और 2 डेंटल कॉलेज हैं। ये पाटलिपुत्र विवि में होंगे।

मुख्यमंत्री ने पिछले दिनों पूर्णिया में नए विश्वविद्यालय की स्थापना की घोषणा की थी। उसके बाद तैयारियां शुरू हो गई थीं। विधेयक में विभाग ने नए विश्वविद्यालय का मुख्यालय पूर्णिया में ही विकसित करने का प्रस्ताव दिया है। इस विश्वविद्यालय का प्रभाव क्षेत्र अररिया, कटिहार, किशनगंज पूर्णिया जिले में होगा। बीएन मंडल विवि, मधेपुरा का प्रभाव कोसी प्रमंडल के तीन जिलों सहरसा, मधेपुरा सुपौल तक सीमित रह जाएगा। इसमें 15 अंगीभूत कॉलेज रह जाएंगे। पूर्णिया विवि के अंतर्गत 13 अंगीभूत समेत कुल 48 कॉलेज आएंगे। बीएनएमयू के प्रो-वीसी डॉ. जेपीएन झा ने बताया कि पूर्णिया यूनिवर्सिटी में पूर्णिया के पांच, अररिया के दो, किशनगंज के दो और कटिहार के चार कॉलेज अंगीभूत होंगे। 1992 में एलएनएमयू दरभंगा को विभाजित कर बीएनएमयू, मधेपुरा की स्थापना की गई थी7 पूर्णिया में विवि की स्थापना से सीमांचल के छात्र-छात्राओं के साथ-साथ यहां के शिक्षक और शिक्षकेतर कर्मचारियों की परेशानी भी कम होगी। उन्हें अब 80-150 किमी की दूरी तय करने से भी छुटकारा मिलेगा।

X

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना