• Hindi News
  • Local
  • Bihar
  • Patna
  • फॉल्ट होने पर दूसरे फीडर से होगी सप्लाई, 10 लाख लोगों को राहत

फॉल्ट होने पर दूसरे फीडर से होगी सप्लाई, 10 लाख लोगों को राहत

6 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
राजधानीके 10 लाख लोगों को राहत मिलेगी। 33 केवी और 11 केवी लाइन में फॉल्ट होते ही पेसू स्काडा सेंटर को ऑनलाइन जानकारी मिल जाएगी। इससे फॉल्ट वाले फीडर की सप्लाई बंद कर दूसरे फीडर से उन इलाकों में ऑनलाइन सर्वर के माध्यम से बिजली सप्लाई चालू कर दी जाएगी। मंगलवार को मुख्यमंत्री नीतीश कुमार और ऊर्जा मंत्री बिजेंद्र प्रसाद यादव ने इसका उद्घाटन किया। मुख्यमंत्री को अभियंता आलोक कुमार के नेतृत्व में वेटनरी कॉलेज पावर सब स्टेशन से निकलने वाले 11 केवी वेटनरी फीडर को ऑनलाइन सर्वर के जरिए सप्लाई चालू और बंद कर दिखाया।

मौके पर ऊर्जा विभाग के प्रधान सचिव सह पावर होल्डिंग कंपनी के एमडी प्रत्यय अमृत, आर लक्ष्मणन, संदीप कुमार आरपी मौजूद रहे।

तयसमय में शिकायत होगी दूर

बिजलीकटने पर आप 1912 पर फोन करें। इसके लिए चार्ज नहीं देना होगा। अगर आपका नंबर रजिस्टर्ड है तो नाम और पता बताने की जरूरत नहीं है। फोन करते ही आपका ऑनलाइन डाटा कंट्रोल रूम में दिखेगा। अाप परेशानी बताएं। एक मैसेज आपके मोबाइल पर और दूसरा मैसेज जूनियर इंजीनियर के मोबाइल पर जाएगा। इसके बाद बिजली कट ठीक किया जाएगा। अगर तय समय सीमा में समाधान नहीं हुआ तो सहायक विद्युत अभियंता, विद्युत कार्यपालक अभियंता, अधीक्षण अभियंता और मुख्य अभियंता के पास मैसेज जाएगा। इसके बाद यह मैसेज साउथ और नॉर्थ बिहार पावर डिस्ट्रीब्यूशन कंपनी के एमडी और फिर पावर होल्डिंग कंपनी के सीएमडी के पास जाएगा। समाधान होते ही शिकायत करने वाले उपभोक्ता को मैसेज से जानकारी दी जाएगी।

स्काडा सेंटर का उद्‌घाटन करते मुख्यमंत्री नीतीश कुमार और ऊर्जा मंत्री बिजेंद्र प्रसाद यादव। साथ में हैं प्रधान सचिव प्रत्यय अमृत

फॉल्ट बनाने का समय जुर्माना

{सामान्यफ्यूज कॉल चार घंटे में ठीक नहीं हुआ तो प्रतिदिन 50 रुपए जुर्माना

{ट्रांसफार्मर जलने पर 24 घंटे में ठीक नहीं हुआ तो प्रतिदिन 100 रुपए जुर्माना

{मीटर सात दिन में नहीं बना तो प्रतिदिन 100 रुपए जुर्माना

{भूमिगत केबल फॉल्ट 24 घंटे में ठीक नहीं हुआ तो प्रतिदिन 50 रुपए जुर्माना

पहले चरण में राजधानी के 50 पावर सब स्टेशनों में से 25 को स्काडा सेंटर से जोड़ा गया है। इनमें सिंचाई भवन, हाईकोर्ट, विद्युत भवन, वेटनरी, पाटलीपुत्र, एएन कॉलेज, एसकेपुरी, राजापुर, गाड़ीखाना, आरबीआई, न्यू बीघा, फुलवारी, गर्दनीबाग, बेउर, अनीसाबाद, मौर्यालोक, साहित्य सम्मेलन, एसके मेमोरियल, मछुआ टोली, गायघाट, एनएमसीएच, राजेंद्रनगर, सैदपुर, बंदर बगीचा और वाल्मी पावर सब स्टेशन शामिल हैं। इन सब स्टेशनों के 33 केवी और 11 केवी फीडरों की ऑनलाइन जानकारी मिलनी शुरू हो गई।

खबरें और भी हैं...