पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • Local
  • Bihar
  • Patna
  • सुर संगम में बही सुर की धारा, कलाकारों ने झुमाया

सुर संगम में बही सुर की धारा, कलाकारों ने झुमाया

4 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
गीत,संगीत और नृत्य की मनमोहक प्रस्तुति से शुक्रवार को सुर संगम कला संस्थान और नूतन नृत्य संगीत कला महाविद्यालय के छात्र-छात्राओं ने सांस्कृतिक कार्यक्रम सुर संगम महोत्सव में समां बांध दिया। यह मौका था त्रिभुवन चंद्रेश्वर कमला इन्क्लेव, पटले नगर में सुर संगम कला संस्थान के सातवें आयोजन का जिसमें कलाकारों ने मनमोहक प्रस्तुति देकर इस समारोह को यादगार बना दिया। कार्यक्रम का उद‌्घाटन कला-संस्कृति मंत्री शिवचंद्र राम, दूरदर्शन निदेशक पीएन सिंह, लेखिका डॉ. शांति जैन और ममता मेहरोत्रा ने किया।

इसमें दोनों संस्थाओं के कलाकारों ने गणेश वंदना, कजरी नृत्य, अंगिका लोकनृत्य, सुगम संगीत, बांसुरी वादन, गिटार वादन, शास्त्रीय गायन आदि पेश कर अपनी प्रतिभा का लोह मनवाया। कार्यक्रम में मंत्री शिवचंद्र राम ने कहा कि आज कला के क्षेत्र में कॅरियर की असीमित संभावना है। नई पीढ़ी इसे अपनाकर रोजगार और शोहरत दोनों पा सकती है। राज्य सरकार कला के क्षेत्र में विकास के लिए कई योजनाएं चला रही हैं। आने वाले दिनों में राज्य में फिल्म सिटी का निर्माण किया जाएगा। कलाकार राज्य सरकार की योजनाओं का लाभ उठाए और अपनी कला को विकसित करे। दूरदर्शन के निदेशक पीएन सिंह ने कहा कि संगीत एक निरंतर चलने वाली साधना है। इसमें बेहतर करने के लिए कलाकारों को धैर्य के साथ संगीत की साधना करनी पड़ती है। लेखिका ममता मेहरोत्रा ने कहा कि माता-पिता अपने बच्चों की प्रतिभा को पहचान कर उसके समुचित विकास के लिए प्रयास करे। लेखिका और प्रसिद्ध कवयित्री डॉ. शांति जैन ने कहा कि दोनों संस्थाएं बच्चों में संगीत की प्रतिभा को निखारने में बेहतर काम कर रही हैं। कार्यक्रम में अंशु शुक्ला, सरिता गुप्ता, मंजू, विकास कुमार, आरोही रंजन, सलीम, रूपेश, रूद्र आनंद समेत कई बच्चों ने अपनी प्रस्तुति दी। इस मौके पर बड़ी संख्या में संगीत प्रेमी दर्शक मौजूद थे।

सुर संगम कार्यक्रम में कला-संस्कृति मंत्री शिवचंद्र राम, दूरदर्शन के निदेशक पीएन सिंह गणमान्य लोग।

खबरें और भी हैं...