पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

19 को पंडवानी गायिका तीजन बाई का गायन

5 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
शहरमें अाने वाले कुछ दिनों में कई अच्छे नाटक देखने को मिलेंगे। यहां सितंबर में रंग जलसा 16, तरुणोत्सव 2016 जैसे नाट्योत्सव और तीसवीं शताब्दी और महामाया आदि नाटकों का मंचन होने जा रहा है। इसमें राष्ट्रीय स्तर के कई कलाकारों का उम्दा अभिनय देखने को मिलेगा।

14सितंबर को देखें नाटक तीसवीं शताब्दी

आगामी14 सितंबर को नार्थ कलकत्ता कल्चरल जागृति संघ की ओर से कालिदास रंगालय में नाटक तीसवीं शताब्दी का मंचन किया जाएगा। बादल सरकार की लिखी कहानी पर आधारित इस नाटक का अनुवाद राम गोपाल बजाज ने किया है। नाटक के निर्देशक अहमद जमाल रहेंगे। वहीं सहायक निर्देशक कृष्णा कुमार झा होंगे। नाटक में साम्राज्यवादी शक्तियों के लालच के कारण बर्बादी के कगार पर जाती दुनिया को दिखाया जाएगा। नाटक में दिखेगा कि साम्राज्यवादी और पूंजीवादी शक्तियों ने अपने लाभ के लिए दुनिया को कई युद्धों में झोंका है।

19 से 23 तक नाट्य महोत्सव रंग जलसा

कालिदासरंगालय में 19 सितंबर से लेकर 23 सितंबर तक नाट्य संस्था निर्माण कला मंच की ओर से नाट्य महोत्सव रंग जलसा 16 का आयोजन किया जा रहा है। इसके पहले दिन 19 सितंबर को मशहूर पंडवानी गायिका तीजन बाई का गायन होगा। 20 सितंबर को निर्माण कला मंच, पटना की ओर से नाटक हरसिंगार का मंचन होगा। श्रीकांत किशोर के लिखे इस नाटक के निर्देशक संजय उपाध्याय होंगे। 21 सितंबर को मध्यप्रदेश नाट्य विद्यालय, भोपाल की ओर से नाटक गोई का मंचन किया जाएगा। बालाजी गौरी के लिखे इस नाटक को कुमारदास टीएन निर्देशित करेंगे। 22 सितंबर को यहां नाटक रेंगती परछाइयां का मंचन किया जाएगा। लिटिल थेस्पियन, कोलकाता की प्रस्तुति इस नाटक की लेखिका उमा झुनझुनवाला है वहीं निर्देशक अजहर आलम होंगे। वहीं इस महोत्सव के अंतिम दिन 23 सितंबर को नाटक आनंद रघुनंदन का मंचन किया जाएगा। मध्यप्रदेश नाट्य विद्यालय, भोपाल की प्रस्तुति और महाराजा विश्वनाथ सिंह के लिखे इस नाटक के निर्देशक होंगे संजय उपाध्याय।

16 सितंबर से होगा तरुणोत्सव 2016

मशहूररंगकर्मी आरपी वर्मा तरुण की स्मृति में कालिदास रंगालय में नाट्य महोत्सव तरुणोत्सव 2016 का आयोजन किया जा रहा है। यह नाटक रोजाना शाम सात बजे से होगा। इसके पहले दिन 16 सितंबर को नाटक प्रतिज्ञा का मंचन किया जाएगा। मुंशी प्रेमचंद की लिखी कहानी पर आधारित इस नाटक के निर्देशक होंगे अरुण कुमार सिन्हा। बिहार आर्ट थियेटर की प्रस्तुति इस नाटक में समाज की कटु सच्चाइयों को बड़े ही रोचक अंदाज में दिखाया जाएगा। दूसरे दिन 17 सितंबर को नाटक परिंदा उड़ गया का मंचन किया जाएगा। डॉ दीनानाथ साहनी की लिखी कहानी पर आधारित नाटक परिंदा उड़ गया का नाट्य रूपांतरण अरविंद कुमार ने किया है। नाट्य संस्था कला जागरण की प्रस्तुति इस नाटक के निर्देशक वरिष्ठ रंगकर्मी सुमन कुमार होंगे। नाटक में सामाजिक बंदिशों में जकड़े लोगों की कहानी दिखाई जाएगी जो अपनी मुक्ति के लिए संघर्ष करते हैं। महोत्सव के तीसरे दिन 18 सितंबर को नाटक पकवाघर का मंचन किया जाएगा। हृषिकेश सुलभ के लिए इस नाटक का निर्देशन मो. जहांगीर कर रहे हैं। नाट्य संस्था आशा, पटना की प्रस्तुति यह नाटक दर्शकों का भरपूर मनोरंजन करने के साथ ही सामाजिक संदेश देगा।

खबरें और भी हैं...

    आज का राशिफल

    मेष
    Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
    मेष|Aries

    पॉजिटिव- इस समय ग्रह स्थिति पूर्णतः अनुकूल है। बातचीत के माध्यम से आप अपने काम निकलवाने में सक्षम रहेंगे। अपनी किसी कमजोरी पर भी उसे हासिल करने में सक्षम रहेंगे। मित्रों का साथ और सहयोग आपकी हिम्मत और...

    और पढ़ें