मुठभेड़ के बाद नक्सलियों के खिलाफ सर्च आॅपरेशन, 137 पर एफआईआर

4 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
औरंगाबाद. मदनपुर के ढाबर टिकर जंगल में हुई मुठभेड़ में भले ही नक्सली पीछे होने को मजबूर हुए, मगर नक्सलियों द्वारा पहली बार राॅकेट लांचर के उपयोग से पुलिस सकते में है। इस मुठभेड़ के बाद नक्सलियों के ठिकाने से कई ऐसे साक्ष्य मिले हैं, जो पुलिस को चौंकाने के लिए काफी है। पायल, बिंदी व महिलाओं के कपड़े आदि बरामद होने से इसका अंदाजा लगाया जा रहा है कि उक्त जगह पर सैकड़ों नक्सलियों के साथ महिला दस्ता भी मौजूद था।
 
यही नहीं पुलिस द्वारा दर्ज प्राथमिकी में भी महिला नक्सलियों का नाम शामिल किया गया है। पुलिस सूत्रों की मानें तो इतनी अधिक तादाद में नक्सली किसी बड़ी वारदात को अंजाम देने के लिए पिछले चार-पांच दिनों से जमे हुए थे। घटनास्थल के आसपास के गांवों के लोगों ने पुलिस को इसकी जानकारी दी है। ग्रामीणों ने बताया है कि नक्सली दूध आदि सामान लेने जंगल से बाहर आते थे। हालांकि समय रहते पुलिस को इसकी भनक लग गई इस मुठभेड़ में पुलिस की गोली से दो नक्सलियों के घायल होने की भी सूचना है। 
 
मुठभेड़ के बाद सर्च आॅपरेशन में जुटे  जवान

मुठभेड़ के बाद से नक्सलियों के खिलाफ पुलिस जवान सर्च अभियान चला रहे हैं। इसमें सीआरपीएफ, कोबरा, एसटीएफ व बिहार पुलिस के जवान शामिल हैं। जवानों द्वारा नक्सलियों के संभावित ठिकानों पर दबिश दी जा रही है। हालांकि इसमें कोई विशेष सफलता जवानों को नहीं मिली है। इधर, एसपी डाॅ. सत्य प्रकाश ने मदनपुर, सलैया, ढिबरा, कुटुंबा, नवीनगर, टंडवा सहित अन्य थानों को अलर्ट कर दिया है और झारखंड व गया के सीमा के क्षेत्रों में नक्सलियों के खिलाफ अभियान चलाने का निर्देश दिया है। एसपी ने कहा कि नक्सलियों को उनके मंसूबे में कामयाब नहीं होने दिया जाएगा।
 
मदनपुर में दर्ज हुआ केस, नक्सलियों का शीर्ष नेता संदीप भी नामजद

मुठभेड़ मामले में शुक्रवार को पुलिस द्वारा मदनपुर थाने में प्राथमिकी दर्ज कर ली गई। दर्ज प्राथमिकी में नक्सलियों के शीर्ष नेता संदीप जी को भी नामजद बनाया गया है। उन्हें मिलाकर कुल 37 नक्सलियों को नामजद व 100 नक्सलियों को अज्ञात आरोपी बनाया गया है। नामजद आरोपियों में विनय यादव, संजीत भुइयां उर्फ सागर भुइयां, अभ्यास जी उर्फ प्रेम भुइयां, नवल भुइयां उर्फ मजनू भुइयां, प्रसाद जी उर्फ रामप्रसाद यादव, मंदीप यादव, गौरा यादव, शिवपूजन यादव, नंद लाल यादव उर्फ नीतीश जी, बीरबल यादव उर्फ रामरूप यादव, आरिफ उर्फ मुखिया, अरुण पासवान, कुंदन यादव, अमरेश सिंह, ममता कुमारी, अनीता पहाड़िया, अमर गंजू, रमेश गंजू, नेपाली यादव, संजय यादव, रितिक यादव, अनिल भुइयां सहित अन्य नक्सली शामिल हैं।
खबरें और भी हैं...