बड़े बाप के बिगड़ैल; खोलना चाहते हैं किराए पर क्राइम करने की दुकान / बड़े बाप के बिगड़ैल; खोलना चाहते हैं किराए पर क्राइम करने की दुकान

अगर आप एतराज जताएंगे तो पीट दिए जाएंगे। इदिनों राजधानी में दर्जन से ज्यादा बाइकर्स गैंग सक्रिय हैं।

शशिसागर

Aug 26, 2017, 07:20 AM IST
सोशल मीडिया पर बाइकर्स गैंग की फोटो। सोशल मीडिया पर बाइकर्स गैंग की फोटो।
पटना. अगर आप पटना में हैं तो आपको बाइकर्स गैंग से सतर्क रहने की जरुरत है। वो इसलिए कि इस दौरान आपको एक साथ कई बाइक पर सवार युवाओं की एक टोली हुड़दंग मचाते हुए दिख जाएगी। अगर आप एतराज जताएंगे तो पीट दिए जाएंगे। इदिनों राजधानी में दर्जन से ज्यादा बाइकर्स गैंग सक्रिय हैं। बाइकर्स गैंग सोशल मीडिया पर हैं एक्टिव...

- जरायम की दुनिया में सिक्का उसी का चलता है, जिसका नाम होता है। हम अपने गैंग का नाम चमकाना चाहते हैं। नाम हो जाएगा तब काम मिलेगा। काम मिलेगा यानी पैसे मिलेंगे।
- बाइकर्स गैंग के एक सदस्य का बयान है यह। भास्कर से बातचीत में उसने कहा- हम हर तरह का काम कर सकते हैं। जमीन पर कब्जा दिलाना हो। किसी के होश ठिकाने लगाने हों।
- कहीं भीड़ जुटानी हो। दबंगई दिखानी हो। हड्डियां चटकानी हो। ये लड़का अपना नाम नहीं बताता। कहता है- काम से काम रखिए। कोई काम है तो बताइए। पैसे मिलेंगे तो मर्डर भी करोगे?
- इस सवाल का जवाब था- देख लेंगे। पुलिस को शक है कि हाल के दिनों में राजधानी में हुई हत्याओं में से कई कांडों में बड़े अपराधियों ने मोटी रकम देकर इसे बाइकर्स से अंजाम दिलवाया है।
- उदाहरण है केदार सिंह हत्याकांड और शेट्‌टी मर्डर केस। सीएम के घर के बाहर हंगामा करने वाले किराये के बाइकर्स ही थे।
- दरअसल, बाइकर्स गैंग अपना वर्चस्व कायम करने के लिए शहर में घटनाओं को अंजाम देते हैं। हद तो यह है कि पुलिसिया कार्रवाई के बीच दो दिनों से बाइकर्स गैंग का उत्पात बिहटा में जारी है।
पुलिस से तो डरते ही नहीं
- तीन चार दिन पहले जक्कनपुर थाने की पुलिस ने माइंस गैंग के सरगना बिट्टू यादव को करबिगहिया स्थित उसके आवास से देर रात को गिरफ्तार किया था।
- सूत्रों की मानें तो जब पुलिस उसके घर पहुंची तो उसने दरवाजा खोलते ही जक्कनपुर थानेदार पर ही ऑटोमेटिक चाकू तान दी।
- जनवरी महीने में आशियाना दीघा रोड पर तकरीबन बीस से पच्चीस बाइकर्स ने मिलकर शास्त्रीनगर थाने की दो पुलिस पदाधिकारियों के साथ धक्कामुक्की और गाली गलौज किया था।
- पुलिस ने रंजीत कुमार के साथ एक अधिकारी के बेटे उज्ज्वल प्रकाश को गिरफ्तार किया था।

बाप के नाम से गैंग
- गैंग का कई सरगना पुलिस की गिरफ्त से दूर है, तो कई जमानत पर बाहर आकर फिर से एक्टिव है। ऐसे ही एक सरगना शुभम ज्योति उर्फ शुभम सरकार, निशु खान, गोलू, दिवाकर को पुलिस ढूंढ़ रही है।
- शुभम हॉर्लिक्स गैंग का सक्रिय मेंबर है। गैंग का सरगना राधे सरकार हाल में ही जेल से छूटा है। बताया गया कि इसने अपने पिता हॉर्लिक्स गोप के नाम पर ही हार्लिक्स गैंग बनाया था।
- पुलिस कहती है कि सबके सब बड़े बाप के बिगड़ैल बेटे हैं। पुलिस यह भी मानती है कि इनको काबू किया गया तो शहर में किराये पर अपराध करने वाले कई गैंग हो जाएंगे।
बीच सड़क पर मारपीट और फायरिंग है आसान तरीका

- एक साथ दस से बीस लड़के बाइक पर सवार होकर तेज गति से शहर में तफरीह करते हैं और मारपीट करते हैं। इस क्रम में कई बार दो गैंग की आपस में भिड़ंत भी हो चुकी है।
- घटनाओं को अंजाम देकर गैंग अपना नाम फैलाने की कोशिश करते हैं। अपने गैंग का प्रचार सोशल मीडिया के जरिए भी गैंग करता है।
- एक बार खौफ कायम हो जाने के बाद गैंग रैलियों में भीड़ जुटाने का ठेका लेने, जमीन पर कब्जा करने से लेकर हत्या करने तक का ठेका लेते हैं। इसके एवज में गैंग के सरगना को मोटी रकम मिलती है।
- 18 से 28 साल के यबाइकर्स में से कई अधिकारियों के बेटे हैं। कई इंजीनियरिंग के छात्र हैं तो कई जेल की हवा खा चुके हैं। माइन्स गैंग फेसबुक अपडेट करता है- आज पूरा एक साल हो गया शास्त्री नगर थाना गए हुए।
- कई बाइकर्स सोशल साइट पर एक्टिव हैं। माइंस रिटर्न, माइंस साइको, स्टार ऑफ पटना, हाइवे माफिया, बाप ऑफ पटना नाम से कई फिलहाल एक्टिव हैं।
- इसके अलावा बोर्नबीटा गैंग, माइंस गैंग, रोजर्स गैंग, ब्लेड गैंग, किंग्स ऑफ पटना, बादशाह, किलर, हंटर, तलवार जैसे गैंग पुलिस के सरदर्द हैं ही।
सीधी बात : राजेश कुमार, डीआईजी सेंट्रल
- नए-नए बाइकर सोशल मीडिया पर एक्टिव हैं?
- सभी का पता लगाया जा रहा है। कार्रवाई से बाइकर्स के बीच दहशत तो है ही। इन पर सख्त कार्रवाई होगी।
- ऐसे में स्कूल-कालेज के बच्चे अपराधी बन जाएंगे।
- इन पर कार्रवाई की जा रही है। जो जो क्रिमिनल एक्टिविटी में शामिल हैं, उका स्कूलों और काॅलेजों से नाम कटवाया जाएगा।
- कार्रवाई के बाद ये दोबारा एक्टिव हो जाते हैं।
- ऐसा नहीं होगा। पुलिस की कार्रवाई लगातार जारी रहेगी। राजधानी से बाइकर्स का आतंक समाप्त होगा।
बिहटा में गैंग के खिलाफ छापेमारी में चार गिरफ्तार
एक दिन पूर्व बिहटा बाजार में फायरिंग कर आतंक मचानेवाले गैंग के चार युवकों को गिरफ्तार किया है। थानाध्यक्ष ने बताया कि गिरफ्तार लोगों की निशानदेही पर 37 लोगों की शिनाख्त हुई है। पकड़े गए युवकों की पहचान बिहटा बिष्णुपुरा निवासी सोनू कुमार, आकाश कुमार, सुशील कुमार और दिलीप कुमार के रूप में हुई है।
किंग्स ऑफ पटना का बाइकर गिरफ्तार
पुलिस ने शातिर बाइकर्स अमरजीत उर्फ मेंटल को राजीव नगर थाना इलाके से गिरफ्तार किया। अमरजीत समनपुरा के बाइकर्स गिरोह का सरगना दानिश की हत्या का आरोपी है। अमरजीत किंग्स ऑफ पटना का सक्रिय सदस्य है। उसने बताया कि अब भी इस ग्रुप के कई लोग सक्रिय हैं। उसने कई शातिर बाइकर्स के नाम भी बताए हैं। अमरजीत मूल रूप से बेगूसराय का रहने वाला है और पटना में वह निजी चालक है।
माइंस गैंग के सरगना पर पुलिस लगाएगी सीसीए
माइंस गैंग के सरगना अविनाश सिंह उर्फ खुशबू सिंह पर सीसीए लगेगा। मुजफ्फरपुर पुलिस में तैनात जमादार का बेटा खुशबू पर सीसीए लगाने के लिए एसएसपी मनु महाराज ने डीएम संजय कुमार अग्रवाल को शुक्रवार को प्रस्ताव भेज दिया है। पहली बार पटना पुलिस ने किसी बाइकर गैंग के सरगना पर सीसीए लगाने का प्रस्ताव भेजा है। गर्दनीबाग के न्यू राजपुताना का रहने वाला खुशबू 9 मार्च 2017 से हत्या के आरोप में जेल में बंद है। पुलिस को भनक लगी थी कि उसका जमानत होने वाला है। इसलिए पुलिस ने उस पर नकेल कस दी है।
14 फरवरी को खुशबू ने मंदिरी में विक्की यादव की हत्या कर दी थी। पुलिस ने उसे कोलकाता से 8 मार्च को गिरफ्तार कर लिया था। माइंस गैंग का संचालक पहले सुजीत नट्ठा था। बाद में खुशबू ने इसपर कब्जा जमा लिया। एसएसपी मनु महाराज ने बताया कि पुलिस बाइकर्स गैंग के सरगना और कुख्यातों का इतिहास खंगाल रही है।
X
सोशल मीडिया पर बाइकर्स गैंग की फोटो।सोशल मीडिया पर बाइकर्स गैंग की फोटो।
COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना