10वीं क्लास का स्टूडेंट कार से करता था शराब की डिलिवरी, 111 बोतल जब्त / 10वीं क्लास का स्टूडेंट कार से करता था शराब की डिलिवरी, 111 बोतल जब्त

आदमपुर में मशाकचक के सतीश सरकार लेन में गुरुवार की रात पुलिस ने एक लग्जरी कार से दसवीं के छात्र को 111 बोतल विदेशी शराब के साथ गिरफ्तार किया है।

Mar 25, 2017, 05:36 AM IST
Delivery of liquor from car
भागलपुर. आदमपुर में मशाकचक के सतीश सरकार लेन में गुरुवार की रात पुलिस ने एक लग्जरी कार से दसवीं के छात्र को 111 बोतल विदेशी शराब के साथ गिरफ्तार किया है। 16 वर्षीय छात्र खुद कार ड्राइव कर शराब की डिलेवरी देने पहुंचा था। शराब कहां डिलेवरी होनी थी, इसका पता नहीं चल पाया है। लेकिन सूत्र बताते हैं कि मोहल्ले के एक चर्चित व्यक्ति के घर उक्त शराब की खेप पहुंचानी थी।

पुलिस ने कार भी जब्त कर ली है। कार की डिक्की में प्लास्टिक की चार बोरियों में शराब की बोतलें छुपा कर रखी गई थीं। पकड़ाया छात्र सजौर के दरियापुर गांव का रहने वाला है और ठेला चालक का बेटा है। वह गुरुकुल उच्च विद्यालय में पढ़ता है। पुलिस छात्र से पूछताछ कर रही है। जब्त कार (जेएच 05 क्यू-0333) झारखंड के पूर्वी सिंहभूम (जमशेदपुर) जिले से रजिस्टर्ड है।

कार मालिक पर भी होगा मुकदमा

भारी मात्रा में शराब की बरामदगी के बाद पुलिस अब इस मामले में पकड़ाए गए छात्र के साथ-साथ कार मालिक पर भी मुकदमा दर्ज करने की तैयारी कर रही है।
जमशेदपुर के हरमीत के नाम से रजिस्टर्ड है गाड़ी

जिस कार से पुलिस ने शराब बरामद की है, वह गाड़ी हरमीत सिंह के नाम से पूर्वी सिंहभूम जिले में रजिस्टर्ड है। हरमीत सिंह जमशेदपुर के सोनारी-आदर्शनगर के रहने वाले हैं। अब यह गाड़ी छात्र के मामा के पास कैसे आई, यह जांच का विषय है।
झारखंड से लाई गई थी शराब

रात में गश्ती के दौरान आदमपुर थानेदार रोहित कुमार सिंह को सूचना मिली कि झारखंड नंबर की एक कार से सतीश सरकार लेन में शराब डिलेवरी होनी है। पहले कार को खोजते हुए मोहल्ले में पहुंच गई। थाने से दो अन्य अफसर दारोगा उत्तम कुमार और शशिभूषण कुमार पासवान को भी बुलाया गया। आकाशवाणी और मशाकचक दोनों ओर से पुलिस ने गली की घेराबंदी कर रखी थी। जैसे ही कार घुसी, पुलिस ने पकड़ लिया। कार की तलाशी ली तो शराब मिल गई।

कोरियर का काम करता था दरियापुर गांव का छात्र

छात्र ने बताया कि पुलिस ने उसे फंसाया है। कार से शराब बरामद नहीं हुई है। छात्र का दावा है कि रात एक बजे वह कार सीख रहा था और पुलिस ने पकड़ लिया। यह कार उसके मामा की है। उसका मामला परबत्ती के एक लॉज में रह कर पढ़ाई करता है। छात्र के मुताबिक, उसके मामा ने दो लाख रुपए में सेकेंड हैंड कार खरीदी है। पुलिस को शक है कि शराब की डिलेवरी में उक्त कार का इस्तेमाल पहले भी हो चुका है। रात में एक बजे कार सीखने का कोई औचित्य नहीं बनता है। पुलिस के मुताबिक, छात्र कोरियर का काम करता है। शराब पहुंचाने के एवज में उसे पैसे मिलते हैं।
Delivery of liquor from car
Delivery of liquor from car
X
Delivery of liquor from car
Delivery of liquor from car
Delivery of liquor from car
COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना