साहेबगंज में पूर्व मुखिया को अपराधियों ने भून डाला, लोगों ने बंद कराया बाजार

4 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
साहेबगंज (मुजफ्फरपुर). बाइक सवार अपराधियों ने शुक्रवार को गुलाब पट्टी पंचायत के पूर्व मुखिया सह वर्तमान मुखिया के पति रमेश सिंह की गोली मार कर हत्या कर दी। घटना आशापट्टी सुखनर मठ और गुलाबपट्टी स्कूल के बीच में हुई। गोली मारने के बाद अपराधी पिस्तौल लहराते हिम्मतपट्टी गांव की तरफ भाग निकले। घटना से गुस्साए लोगों ने सड़क जाम कर दिया। वहीं, बाजार की सभी दुकानों को बंद करा दिया। 

बताया गया है कि पूर्व मुखिया राज्य खाद्य निगम के गोदाम से डीलरों के यहां अनाज पहुंचाने की ठेकेदारी लिए हुए थे। वे अपने वाहनों से अनाज डीलरों के गोदाम तक पहुंचाते थे। शुक्रवार की सुबह पलदारों को निर्देश देकर राज्य खाद्य निगम के गोदाम से साढ़े दस बजे अपने घर हिम्मतपट्टी के लिए बाइक से निकले। दो अपराधियों ने घेर लिया। बाइक के पीछे बैठे एक ने बाइक से उतर कर पूर्व मुखिया के सीने में दो गोली मार दी। सुपारी ले कर हत्या कराने का शक व्यक्त किया जा रहा है। बताया जा रहा कि हत्या के पीछे गोदाम का विवाद हो सकता है।
 
अररिया के फारबिसगंज में जमीन के विवाद में कर डाली जदयू नेता के बड़े भाई की हत्या
 
फारबिसगंज प्रखंड के बथनाहा ओपी क्षेत्र के सोनापुर पंचायत में भूमि विवाद में भैंस लेकर गए जदयू नेता के भाई सुरेंद्र मेहता की हत्या कर दी। शुक्रवार की सुबह एक चरवाहा ने गड्ढे में एक शव को देखा। शव सिमराही  पुल के निकट एक गड्ढे मिला। पुलिस ने शव को पोस्टमार्टम के लिए सदर अस्पताल अररिया भेज दिया है। पहचान सुरेंद्र मेहता (57) पिता हरिनारायण मेहता के रूप में हुआ। इधर मृतक के भाई सह जदयू नेता दिलीप मेहता ने गांव के ही लोगों पर भाई की हत्या करने का आरोप लगाया है।
खबरें और भी हैं...