• Hindi News
  • Government Medical Colleges Will Be Opened In The College Of Nursing

सरकारी मेडिकल कॉलेजों में खुलेंगे नर्सिंग कॉलेज, 528 करोड़ की है परियोजना

6 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
पटना. राज्य के सभी सरकारी मेडिकल कॉलेजों में नर्सिंग कॉलेज खुलेंगे। सरकार ने सभी 16 मेडिकल कॉलेजों में इन नर्सिंग कॉलेजों की स्थापना का निर्णय किया है। राज्य में नर्सों की कमी को पूरा करने के लिए सरकार लगातार प्रयत्नशील है। इसी कड़ी में 7 पुराने मेडिकल कॉलेजों के साथ 9 नए खुलने वाले मेडिकल कॉलेजों में इसकी स्थापना की कार्रवाई शुरू कर दी गई है।
स्वास्थ्य प्रक्षेत्र में दूसरे चरण के सुधार कार्यक्रम के तहत वर्ष 2021 तक नर्सिंग कॉलेज खोलने की चरणबद्ध योजना को मंजूरी दी गई है। इन 16 नर्सिंग कॉलेज पर कुल 528 करोड़ रुपए खर्च किए जाएंगे। प्रति कॉलेज 33 करोड़ लागत आएगी। अगले 5 साल में इन कॉलेजों की स्थापना की जाएगी। अप्रैल से चालू होने वाले वित्तीय वर्ष (2016-17) में इस परियोजना पर 80 करोड़ रुपए खर्च होंगे।
नर्सों की है भारी कमी
नर्सिंग कॉलेज में स्नातक स्तरीय (बीएससी नर्सिंग) कोर्स की पढ़ाई होती है। इस डिग्री के बाद ही नर्सिंग स्कूलों ( जीएनएम-एएनएम) में टीचर बना जा सकता है। वहीं सुपर स्पेयशिलिटी अस्पतालों में बीएससी नर्सिंग की डिग्री वाली नर्सों की ही जरूरत पड़ती है। ऐसे में राज्य में नर्सिंग कॉलेजों की अति आवश्यकता है। फिलहाल पटना के आईजीआईएमएम में ही मात्र एक सरकारी नर्सिंग कॉलेज चल रहा है और एनएमसीएच में खोलने की प्रक्रिया पहले से चल रही है।
दूसरी तरफ सरकारी स्तर पर 21 एएनएम स्कूल और 6 जीएनएम स्कूल हैं। इन स्कूलों में टीचर की भारी कमी है। जीएनएम और एएनएम की डिग्री वाली नर्सें ही पीएचसी से लेकर जिला अस्पतालों में तैनात होती है। ऐसे में सरकार ने इन कमियों को दूर करने के लिए ये बड़ा फैसला किया है।
यहां खुलेंगे नर्सिंग कॉलेज
पीएमसीएच पटना, डीएमसीएच दरभंगा, एसकेएमसीएच मुजफ्फरपुर, एएनएमसीएच गया, जेएलएनएमसीएच भागलपुर, वीआईएमएस पावापुरी और जीएमसी बेतिया
इन नए मेडिकल कॉलेजों में भी होंगे नर्सिंग कॉलेज
छपरा, मधेपुरा, समस्तीपुर, पूर्णिया के साथ प्रस्तावित 5 और नए मेडिकल कॉलेज (इनकी जगह अभी तय नहीं कर पाई है सरकार)
एएनएम-जीएनएम की कमी
कार्यरतआवश्यकताकमी
214426990648464