पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

स्टार्ट नहीं हो पाया इंडिगो का विमान, यात्रियों को दूसरी फ्लाइट से भेजा कोलकाता

4 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
पटना. पटना एयरपोर्ट पर एकबार फिर इंडिगो का विमान उड़ान भरने से पहले ग्राउंडेड हुआ। इसबार भी विमान में सभी यात्रियों की बोर्डिंग हो चुकी थी। लेकिन, इंजन स्टार्ट नहीं हो पाया। कुछ देर तक मशक्कत के बाद भी इंजन स्टार्ट नहीं हुआ तो सभी 140 यात्रियों को उतारा गया और विमान संख्या 6 ई 634 को पार्किंग संख्या तीन में ग्राउंडेड किया गया।
 
यह विमान दोपहर 12.30 बजे पटना से कोलकाता के लिए उड़ान भरने वाला था। एयरपोर्ट निदेशक आरएस लहौरिया ने बताया कि विमान में आई तकनीकी खराबी की वजह से ग्राउंडेड  किया गया। इंडिगो एयरलाइंस के अधिकारी ने बताया कि सभी यात्रियों को दूसरे विमान से कोलकाता भेजा गया और ग्राउंडेड विमान ने इंजीनियर द्वारा तकनीकी खराबी ठीक किए जाने के बाद शाम 5 बजे उड़ान भरी। 
 
22 दिनों में तीसरी घटना  
 
22 दिनों में इंडिगो के विमान में तकनीकी खराबी की यह तीसरी घटना है। 30 जून को विमान संख्या 6 ई 508 का इंजन उड़ान भरने से पहले ही क्षतिग्रस्त हो गया था और एक बड़ा हादसा होने से बचा था। उस विमान को पटना से उड़ान भरने में आठ दिन का समय लग गया था। वहीं 12 जुलाई को रनवे पर उड़ान भरने से पहले विमान के स्टार्ट होते ही इंडिगो के 6 ई 634 विमान में तकनीकी खराबी आ गई थी। उस वक्त उस विमान की स्पीड डिस्प्ले पर नहीं दिख पा रही थी, जिसकी वजह से विमान को वापस ले जाया गया और ग्राउंडेड किया गया।  
 
एयरपोर्ट निदेशक बोले- सेफ्टी पर सबसे ज्यादा ध्यान 

एयरपोर्ट निदेशक आरएस लाहौरिया ने कहा कि एयरक्राफ्ट में सेफ्टी पर सबसे ज्यादा ध्यान दिया जाता है। जरा-सा भी प्रोब्लम दिखता है, तो पायलट विमान को टेक ऑफ नहीं करता है। जो एयरक्राफ्ट चेक करते हैं, वे डीजीसीए से लाइसेंस प्राप्त इंजीनियर होते हैं। विमान की जांच करने का हर जगह एक ही पैमाना है।  
 
इधर... कई विमान आए लेट
 
इधर, खराब मौसम के कारण शुक्रवार को कई विमान विलंब से पटना पहुंचे। बेंगलुरु से आने वाला स्पाइस जेट का विमान एसजी 868 करीब 4.30 घंटे, दिल्ली से आने वाला एयर इंडिगो का 409 व जेट एयरवेज का 731 करीब 30 मिनट लेट रहा। वहीं इंडिगो का एक विमान सुबह 10 बजे उतरने से पहले 10 मिनट तक आसमान में चक्कर लगाता रहा। दरअसल रनवे पर काफी कम विजिबिलिटी होने की वजह से ऐसा हुआ।
खबरें और भी हैं...