पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • डॉ. विजय मामले की जांच एसआईटी करेगी

डॉ. विजय मामले की जांच एसआईटी करेगी

7 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
रात 10 बजे काम पर लौटे डॉक्टर

पीएमसीएचके जूनियर डॉक्टर अपने साथी डॉ. कुमार विजय कृष्ण के मामले की जांच सीआईडी और एसआईटी से कराने का आश्वासन मिलने के बाद गुरुवार की रात दस बजे से काम पर लौट आए। जूनियर डॉक्टर एसोसिएशन के अध्यक्ष डॉ. राकेश का कहना है कि इस मामले की जांच के लिए एसआईटी और सीआईडी से कराने के लिए गठित टीम से जेडीए संतुष्ट है। प्राचार्य डॉ. एसएन सिन्हा की ओर से की गई पहल की सराहना की। डॉ. एसएन सिन्हा गुरुवार को आईजी कुंदन कृण्णन से मिल जेडीए की मांग को रखा था। आईजी ने कहा था कि जांच में कितनी प्रगति हुई उसकी जानकारी दी जाएगी। उसकी जानकारी जेडीए को गुरुवार की रात विज्ञप्ति में मिली। इसके बाद जेडीए ने बैठक की और हड़ताल वापस लेने का निर्णय लिया। भासा के सचिव और पीएमसीएच के ओएसडी डॉ. कुमार अरुण ने हड़ताल वापस लेने पर जेडीए की इस पहल की सराहना की है।

सांसदसे मंत्री तक कर चुके हैं पैरवी: अपहरणका मामला दर्ज होने के बाद राज्य सरकार के एक मंत्री ने डॉ. विजय के पक्ष से ठेकेदार की ओर से एक सांसद ने पुलिस के वरीय अधिकारियों को फोन किया था।

{परिजनों ने सूचना 21 अक्टूबर को एसकेपुरी थाने में सूचना दी। पुलिस ने सनहा संख्या-821 दर्ज की।

{परिजनों के साथ सचिवालय डीएसपी डॉक्टर के आवास गए पूछताछ की।

{डॉ. विजय का मोबाइल 8226928417, 9006141081 9473375482 की जांच हुई। तीनों मोबाइल का अंतिम लोकेशन एएन पथ ही बताया गया। अंतिम कॉल 6:15 बजे।

{डॉ. विजय की शादी प्रियंका से होने वाली थी। उनके मोबाइल का भी सीडीआर निकाल कर जांच हुई।

{पीएमसीएच के फिजियोलॉजी विभाग के अटेंडेंस रजिस्टर में उनकी अंतिम प्रविष्टि 17 अक्टूबर थी। इसके बाद वे पीएमसीएच नहीं गए।

{एनएच से आगे के सीसीटीवी कैमरे की जांच की गई, साक्ष्य नहीं मिला।

{डॉक्टर की बाइक बीआर01एजे-0690 गांधी सेतु से बरामद हुई। यह बाइक 19 अक्टूबर की रात 9 बजे देखी गई थी।

{डीएसपी शिबली नोमानी ने गांधी सेतु पाया संख्या-42 के पास परिजनों के साथ जाकर जांच की।

{23 अक्टूबर को एनडीआरएफ कमांडेंट को पत्र लिखा।

{25 अक्टूबर को डॉ. विजय के पिता हरिकृष्ण प्रसाद के बयान पर राजकुमार और देवेंद्र सिंह के खिलाफ अपहरण का मामला दर्ज कर एसआई अरविंद किशोर को जांच अधिकारी बनाया गया।

{आलमगंज, दीदारगंज, खाजेकला, चौक, मालसलामी थाने को मामल