पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • Pakistani Agents And Supporters Say Jinnah Was Uproar In The Assembly

पाकिस्तानी एजेंट तथा जिन्ना समर्थक कहने पर विधान सभा में हुआ हंगामा

9 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक


पटना . बिहार विधानसभा में सोमवार को बजट चर्चा के जवाब में वित्त मंत्री सुशील कुमार मोदी ने कहा कि केंद्र प्रायोजित योजनाओं में राज्यांश लगातार बढ़ रहा है। इससे बिहार जैसे पिछड़े प्रदेशों की मुश्किलें बढ़ रही हैं। उन्होंने कहा कि बीके चतुर्वेदी समिति की सिफारिशों को केंद्र सरकार लागू नहीं कर रही है।

सर्वशिक्षा अभियान, एनआरएचएम जैसी योजनाओं की राशि सीधे संबंधित एजेंसियों की बजाय राज्य के खाते में देने की राज्यों की मांग पूरी नहीं हुई। मोदी ने बिहार को विशेष दर्जा की वकालत करते हुए कहा कि इससे राज्यांश कम होगा।

उन्होंने साइकिल, पोशाक और छात्रवृत्ति योजनाओं में उपलब्धियों की खास चर्चा करते हुए कहा कि लाभान्वित छात्र-छात्राओं की संख्या के लिहाज से यह गिनीज बुक ऑफ वल्र्ड रिकार्ड में दर्ज कराने लायक है।

बिचौलियों-ठेकेदारों के हित में

विपक्ष के नेता अब्दुल बारी सिद्दीकी ने कहा कि बजट में गरीबों के लिए कुछ नहीं है। यह बिचौलियों, ठेकेदारों और दलालों के हित में है। उन्होंने कहा कि 21 फरवरी को सुशील मोदी ने इस तरह बजट पेश किया जैसे बिहार वल्र्ड चैंपियन हो गया।

जबकि हकीकत में गुजरात की प्रति व्यक्ति आय बिहार से चार गुना है। बजट को जनविरोधी करार देकर सिद्दीकी समेत राजद-सीपीआई सदस्य वाकआउट कर गए।

गृह जिला में स्थानांतरण :

शिक्षा मंत्री पीके शाही ने सदन में बताया कि सुप्रीम कोर्ट के आदेश पर शिक्षिकाओं को गृह जिला में स्थानांतरण करने की घोषणा की। उन्होंने कहा कि 31 मार्च तक प्रक्रिया पूरी कर ली जाएगी। मंत्री ने बताया कि 23 जिलों में आवेदक और रिक्तियां बराबर हैं। बाकी जिलों में आवेदक ज्यादा हैं, वहां वरीयता आधार पर स्थानांतरण होगा।

नन बैंकिंग कंपनियों ने लूटे
भाजपा विधायक अरुण कुमार सिन्हा के अल्पसूचित प्रश्न के जवाब में उप मुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी ने कहा कि कुल 346 नन बैंकिंग वित्तीय कंपनियों द्वारा 20.38 करोड़ रुपये लेकर फरार होने की सूचना है।

इनमें 19 कंपनियों से 2.12 करोड़ रुपये मूलधन वसूल कर जमाकर्ताओं को वापस कराया गया। इस संबंध में एक विशेष न्यायालय का गठन प्रक्रियाधीन है।

मंत्री की अमर्यादित टिप्पणी को लेकर विपक्ष का हंगामा

पटना . बिहार विधानसभा में मुख्य विपक्षी पार्टी राष्ट्रीय जनता दल (राजद) के एक सदस्य के खिलाफ सदन में मंत्रियों की ओर से की गई कथित अमर्यादित टिप्पणी का मामला सोमवार को फिर से उठा।

इसे लेकर पक्ष-विपक्ष के सदस्यों के बीच तीखी नोक-झोंक हुई। विधानसभा में भोजनावकाश से पूर्व राजद के अख्तरुल इमान ने कहा कि राज्यपाल के अभिभाषण के दौरान जब उन्होंने सदन में एक मुद्दा उठाया था तब सत्ता पक्ष के सदस्यों और मंत्रियों ने उनके खिलाफ अमर्यादित टिप्पणी की।

उन्हें पाकिस्तानी एजेंट तथा जिन्ना समर्थक कहा था। उन्होंने कहा कि एक भारतीय नागरिक के लिये इससे बड़ी गाली नहीं हो सकती है। इमान ने कहा कि उन्हें आसन से आश्वासन मिला था लेकिन अभी तक इस मामले में कुछ भी नहीं हुआ है। उन्होंने कहा कि वह आसन से संरक्षण चाहते हैं।

इतने पर ही सत्ता पक्ष के कई सदस्य एक साथ खड़ा होकर इसका विरोध करने लगे। इसी दौरान संसदीय कार्य मंत्री विजेंद्र प्रसाद यादव ने कहा कि मीडिया में खबर आई है कि इस मामले को लेकर राजद सदस्य ने एक मुकदमा दायर किया है। इस पर इमान ने कहा कि उनकी ओर से कोई मुकदमा दायर नहीं किया गया है।