पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App
  • Hindi News
  • Doctor Adopted Abandoned Child In Ara Bihar

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

एक मां की ममता पड़ी छोटी तो दूसरी मां गुंजन ने दिया सहारा

9 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
आरा। मां मेरा क्या कसूर? मारना ही था तो जन्म देकर मरने के लिए अस्पताल क्यों छोड़ दिया। मैं तो तेरे गर्भ में ही पता चल जाती की बेटी हूं। पहले ही मार दिया होता। समझ गई मां, तेरे पास पैसे नहीं थे, या तो तूने उच्च शिक्षा ग्रहण नहीं की है। नहीं तो तुझे भी गर्भ में ही जानकारी रहती। इस काम को तो शिक्षित लोग बड़े आसानी से कर लेते है और उनको कोई लांछन भी नहीं लगती। भारत की माताओं का तो विश्व में उदाहरण दिया जाता था। लेकिन विकसित भारत, 21वीं सदी के भारत के माताओं की ममता में ब्लैक होल हो गया है न मां। हो भी क्यों न? महंगाई, भष्टाचार, लूट, दहेज के दलदल में फसे भारत में बेटी को कौन पूछेगा। भोजपुर की बेटी मीरा कुमार तो दिल्ली चली गई। कोलकाता की ममता बनर्जी, बिहार की राबड़ी देवी, उत्तर प्रदेश की मायावती, तामिलनाडु की जयललिता, राजस्थान की बसुंधरा राजे, इतना ही नहीं रेखा और जया बच्चन के साथ कल्पन चावला को भी छोड़ दे। विश्व की दस ताकतवर महिलाओं की सूची में सुमार होने वाली सोनिया गांधी और भारत के प्रथम नागरीक का दर्जा पाने वाली राष्ट्रपति प्रतिभा पाटिल भी कुछ नहीं कर सकती मेरे लिये तो तू क्या चीज है मां। ये पुकार सदर अस्पताल आरा के इमरजेंसी वार्ड में पड़ी दो दिन की बच्ची की है। जिसकी मां मरने के लिए अस्पताल के बेड पर छोड़ कर अपनी दुनिया में लौट गई। कहते है न कि जिसका कोई न हो, उसका खुदा है यारों। जी हां ममता मां की ही जागी। तभी तो डॉ. गुंजन और डॉ. विकास ने बच्ची को गोद लेने का ऐलान कर दिया। गोद लेने वाले डॉ. विकास सिंह ने बताया कि लक्ष्मी को मार कर कोई लक्ष्मी नहीं कमा सकता। अस्पताल में राउंड के दौरान बच्ची पर नजर सबसे पहले डॉक्टर विकास की पड़ी। तभी उन्होंने सोचा कि पहली नजर हमारी पड़ी तो बेटी भी हमारी हुई। उसी समय उन्होंने डॉक्टर पत्नी गुंजन से बात कर बच्ची को गोद लेने का ऐलान कर दिया। ऐसा नहीं कि डॉक्टर दंपति के बच्चे नहीं है। डॉक्टर दंपति की चार वर्षीय बेटी और छ: माह का बेटा है। डॉ. विकास द्वारा बच्ची को गोद लिया जाना देश के उन सभी डॉक्टरों के गाल पर करारा तमाचा है, जो पैसे लेकर माताओं को बताते है कि गर्भ में बेटा है या बेटी। लोकसभा अध्यक्ष मीरा कुमार के शब्दों में देश के सभी जांच घरों का नारा है, पांच हजार दो बाद में, पांच लाख बचाओ।

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- आध्यात्मिक गतिविधियों में समय व्यतीत होगा। जिससे आपकी विचार शैली में नयापन आएगा। दूसरों की मदद करने से आत्मिक खुशी महसूस होगी। तथा व्यक्तिगत कार्य भी शांतिपूर्ण तरीके से सुलझते जाएंगे। नेगेट...

और पढ़ें