पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

बाढ़ का खतरा बढ़ा, तीन जिलों से खगड़िया का संपर्क टूटा

9 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
पटना. नेपाल के तराई क्षेत्रों में हो रही लगातार बारिश और कोसी का जलस्तर बढ़ने के कारण कई क्षेत्रों में बाढ़ का खतरा उत्पन्न हो गया है। राज्य के जल संसाधन विभाग ने गंडक, बागमती और कोसी के जलस्तर में वृद्धि की आशंका को देखकर इन नदियों के प्रवाह क्षेत्रों में अलर्ट जारी कर दिया है। इधर, कटाव के कारण खगड़िया का कई जिलों से सम्पर्क टूट गया है। खगड़िया के जिलाधिकारी धर्मेंद्र सिंह ने शनिवार को बताया कि राष्ट्रीय राजमार्ग 107 पर स्थित डुमरी स्थित पुल पर उत्तरी पहुंच पथ पर कोसी के भीषण कटाव को देखते हुए पुल पर परिचालन रोक दिया गया है, जिस कारण खगड़िया का सुपौल, सहरसा और मधेपुरा से सड़क सम्पर्क टूट गया है। सहरसा के मानसी-सहरसा रेलखंड पर कोसी का कटाव जारी उन्होंने कहा कि नदी पार करने के लिए प्रशासन द्वारा चार नौकओं का प्रबंध किया गया है। उन्होंने बताया कि खतरे को देखते हुए परिचालन रोकने का निर्णय किया गया है। इधर, सहरसा के मानसी-सहरसा रेलखंड पर कोसी का कटाव जारी है। पटना के बाढ़ नियंत्रण कक्ष के मुताबिक शनिवार सुबह आठ बजे कोसी नदी के वीरपुर बराज से जल प्रवाह 1,41,980 क्यूसेक था, जो 10 बजे बढ़कर 1,43,370 क्यूसेक तक जा पहुंचा। इधर, वाल्मीकीनगर स्थित गंडक बराज में भी गंडक का जल प्रवाह 1,86,200 क्यूसेक है। सभी तटबंधों की हो रही निगरानी कोसी में जल प्रवाह बढ़ने के कारण कुछ स्थानों पर तटबंध में कटाव की खबर है। राज्य के जल संसाधन विभाग के एक अधिकारी के मुताबिक बाढ़ से निपटने के लिए सभी आवश्यक तैयारियां कर ली गई हैं। सभी तटबंधों की निगरानी की जा रही है। उल्लेखनीय है कि वर्ष 2008 में कोसी की बाढ़ ने करीब तीन लाख से ज्यादा लोगों को बेघर कर दिया था और कई लोगों की मौत हो गई थी।

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव - आज की स्थिति कुछ अनुकूल रहेगी। संतान से संबंधित कोई शुभ सूचना मिलने से मन प्रसन्न रहेगा। धार्मिक गतिविधियों में समय व्यतीत करने से मानसिक शांति भी बनी रहेगी। नेगेटिव- धन संबंधी किसी भी प्रक...

और पढ़ें