--Advertisement--

DB SPOTLIGHT: नींद उड़ाकर सपना देखा और पूरा भी किया धरमवीर ने

Zo Rooms और Zostel के CEO & Co founder धरम वीर सिंह चौहान से सीखें 5 सबक

Dainik Bhaskar

Oct 14, 2015, 08:02 PM IST
DB SPOTLIGHT on Dharam Veer Singh  Zo Rooms CEO & Co founder
नेटिव कंटेट डेस्क: हमारे पूर्व राष्ट्रपति और मिसाइलमैन के नाम से मशहूर डॉ. कलाम ने एक बार कहा था कि, ' कुछ कर गुजरने के सपने वो नहीं होते जो आप नींद में देखते हैं, सपने तो वो होते हैं जो आपको सोने नहीं देते ।' ऐसे ही सपने और उसे पूरा करने की कहानी है धरमवीर सिंह चौहान की । भारत ही नहीं दुनियाभर में मशहूर हो रहे Zo Rooms और Zostel के CEO & Co founder धरम वीर सिंह चौहान एक ऐसे शख्स हैं जिन्होंने अपने बूते कुछ बड़ा करने का सपना देखा और वे उसे पूरा करने की सही राह पर हैं। धरमवीर का सक्सेस मंत्र है -' किसी भी काम की सफलता में आइडिया तो बस 1% होता है, बाकी 99% उसका सही एग्जीक्यूशन होता है।'
आज उनके द्वारा दोस्तों के साथ मिलकर शुरू किया गया हॉस्पिटैलिटी बिजनेस वेंचर Zostel और Zo Rooms तेजी से आगे बढ़ रहा है। आज 45 से ज्यादा शहरों में 700 से ज्यादा ZO प्रॉपर्टीज के साथ धरमवीर एंड टीम नई मंजिलों की ओर चल पड़ी है। एक साल में उनका टारगेट है 100+ Zostel प्रॉपर्टीज और 10,000 Zo Rooms ।
dainikbhaskar.com के एक्सक्लूसिव शो DB Spotlight में इस बार पेश है धरमवीर सिंह चौहान 'DV' की कहानी, Preeti Hoon के साथ ।
DB Spotlight में धरमवीर के इसी वीडियो इंटरव्यू से हमने अपने व्यूअर्स के लिए निकालें हैं 5 सबक जिन्हें अपनी आदत बनाकर यंगस्टर्स और स्टार्टअप करने वाले अपनी मंजिलों की ओर बढ़ सकते हैं।
पहला सबक: दुनिया को हर एंगल से देखना चाहिए
DB Spotlight Show में रफ एंड टफ एंटरप्रेन्योर धरमवीर कहते हैं कि हमें दुनिया घूमनी चाहिए। अलग-अलग जगह देखकर ही हम बेस्ट एक्सपीरियंस हासिल कर सकते हैं। IIT BHU में पढ़ाई के दौरान पैसे बचाकर धरमवीर यूरोप घूमने निकले और वहां पैसे बचाने के लिए वे यूथ हॉस्टल में ठहरे। यहीं से उन्हें सूझी कि ऐसा ही बैकपैकिंग कल्चर भारत में भी लेकर आना चाहिए। दोस्तों के साथ वीकएंड पर नई-नई जगहों पर घूमने जाने से उनके इरादे और पक्के हुए। इस तरह धरमवीर ने Zostel का सपना देखा और सही वक्त आने पर उसे पूरा किया।
दूसरा सबक: कोई काम क्यों करना है, यह क्लियर रखें
धरमवीर बताते हैं कि IIM में उनकी एंट्री के पहले ही दिन उन्होंने तय कर लिया था कि नौकरी नहीं करनी है, अपने दम पर ही कुछ करना है। उन्हें अपनी जैसी सोच रखने वाले दोस्त मिले और सबने आपस में आइडिएशन करना शुरू किया। जब दो साल बाद ये दोस्त IIM से पढ़ाई पूरी करके बाहर निकले तो उनके सामने क्लियर था कि आगे लाइफ में करना क्या है। Zostel को शुरू करने में उनकी यही क्लियर सोच काम आई और वेंचर सफल हुआ।
तीसरा सबक: लोगों की सुनें और बदलाव करें
जब धरमवीर ने Zostel के रूप में देश की पहली चेन शुरू की तो उन्हें हर तरह के यूजर रिव्यूज़ मिले। यहां समझदारी से उन्होंने रिव्यूज को अपनी स्ट्रैटजी में शामिल किया। लोगों की बातें सुनीं, उनके सुझावों पर ध्यान दिया और उन्हें एग्जीक्यूट करने में अपनी एनर्जी व रिसोर्सेज लगाए। धरमवीर खुद कहते हैं कि किसी भी काम की सफलता में आइडिया तो बस 1% होता है, बाकी 99% उसका एग्जीक्यूशन होता है। Zostel के बाद ZoRooms की सफलता में भी उन्हें यह सबक बहुत काम आया।
चौथा सबक: विश्वास करो कि आप अच्छा कर रहे हो
अपने कांफिडेन्स को लेकर धरमवीर बहुत अग्रेसिव हैं। वे साफ कहते हैं कि भले ही आपके अंदर कमियां हो तो भी आपको अपने अच्छे काम पर भरोसा होना चाहिए। जब हम अच्छा करने लगते हैं तो लोगों की नजर भी आप पर पड़ती है। कुछ लोग आपको अपने निशाने पर रखते हैं और कुछ आपको अप्रिशेएट करते हैं। अब यह आप पर है कि आप अपना कॉन्फिडेन्स कैसा रखते हैं। इसे पॉजिटव बनाकर रखें और यकीन रखें कि आप अच्छा कर रहे हैं तो रिजल्ट हमेशा अच्छे मिलेंगे।
पांचवा सबक: बेस्ट रिसोर्सेज की तलाश करो
DV के नाम से मशहूर धरमवीर कहते हैं कि, 'हमेशा बेस्ट लोगों की तलाश करो और उन्हें अपनी टीम में शामिल करो। अपने से स्मार्ट और इंटेलीजेंट लोगों से दूरी मत बनाओ। उनसे सीखो कि किसी काम को स्मार्ट तरीके से कैसे किया जाता है। अगर मेरी कंपनी में कोई मुझसे ज्यादा स्मार्ट है तो यह मेरे लिए गर्व की बात होनी चाहिए।'
X
DB SPOTLIGHT on Dharam Veer Singh  Zo Rooms CEO & Co founder
Astrology

Recommended

Click to listen..