• Hindi News
  • Local
  • Chhattisgarh
  • Bilaspur
  • सिम्स के चार सौ मरीजों के लिए बनाई गई सब्जी में सिर्फ चार किलो टमाटर

सिम्स के चार सौ मरीजों के लिए बनाई गई सब्जी में सिर्फ चार किलो टमाटर

4 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
सिम्स में चार सौ भर्ती मरीजों के लिए रोजाना 70-80 किलो सब्जी बनती है। जिसमें सिर्फ 4 किलो टमाटर की मात्रा मिलाई जा रही है। जिससे धीरे-धीरे सब्जी से स्वाद गायब होने लगा है। दूर-दराज से पहुंचे मरीजों को यह भोजन खाना मजबूरी बन गई है। आसपास के मरीज के परिजन अपने घर से ही भोजन लाना शुरू कर दिए हैं। इससे पहले इतनी ही सब्जी मेें करीब 10-12 किलो टमाटर मिलाकर सब्जी पकाते थे। स्वाद विहीन सब्जी पर प्रबंधन की नजर नहीं जा रही है।

बीते वर्ष सिम्स में तीन करोड़ के बजट से सिम्स प्रबंधन ने भोजन का टेंडर दिया है। मरीजों को प्रतिदिन अलग-अलग प्रकार की सब्जी बांटने निर्देश हैं। सिम्स में हर दो दिन में एक ही तरह की सब्जी परोसी जा रही है, जिससे मरीज यहां के भोजन से ऊब चुके हैं। अचानक सब्जी के भाव में परिवर्तन होने पर यहां पकने वाली सब्जी से टमाटर भी गायब हो गई है। 20 किलो के एक कैरेट टमाटर को 4-5 दिन तक इस्तेमाल किया जा रहा है। इससे सब्जी का जायका समाप्त हो गया है। सुबह- शाम मरीजों को चाय और बिस्किट बांटने के निर्देश हैं। चाय तो दोनों समय बांट रहे हैं, पर शाम को बिस्किट नहीं दी जा रही है। सिम्स प्रभारी एमएस डॉ. रमणेश मूर्ति ने बताया कि सब्जी की गुणवत्ता में कमी की शिकायत है तो जांच की जाएगी। शिकायत सही पाई गई तो ठेकेदार को नोटिस भेजकर जवाब मांगा जाएगा।

टमाटर के दाम में बढ़ोतरी से सिम्स के ठेकेदार रुखा भोजन परोस रहे हैं।

खबरें और भी हैं...