पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

जल्दबाजी व नशे में ड्राइवर की वजह से गई 5 जानें, हेलीकाप्टर से हुआ बचाव

5 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
अंबिकापुर/बिलासपुर. रविवार की रात डांड़गांव से रिश्तेदार की शादी में शामिल होने निकले बारातियों से भरी पिकअप ड्राइवर के नशे व जल्दबाजी के कारण गंभीर हादसे का शिकार हो गई। पिकअप खम्हरिया के पास सामने से आ रहे ग्रामीणों से भरे ट्रैक्टर से टकरा गई। इससे पांच बारातियों की मौके पर ही मौत हो गई और 9 लोग घायल हो गए। कलेक्टर व आईजी की पहल पर देर रात एयर फोर्स ने मदद की और हेलीकाप्टर से गंभीर घायल एक महिला व बालक को अंबिकापुर से रायपुर शिफ्ट किया। 

यह हादसा रविवार की रात साढ़े 9 बजे उदयपुर-सूरजपुर रोड में खम्हरिया के पास हुआ। डांड़गांव निवासी राम साय के पुत्र मनियार की रविवार को शादी थी। रात में दो पिकअप व एक मार्शल में सूरजपुर जयनगर थाने के ग्राम कंदरई बासेनपारा बारात  लेकर निकले। मार्शल व एक पिकअप में कुछ बाराती पहले निकले। पीछे से पिकअप क्रमांक सीजी 15 एसी- 3635 से राम साय के रिश्तेदार जाने के लिए निकले। इसमें करीब 30 बाराती सवार थे। ड्राइवर राधे श्याम नशे में था। दो अन्य बाराती गाड़ियों के आगे निकल जाने से ड्राइवर जल्दी में पिकअप को काफी तेज रफ़तार में चला रहा था। इसी दौरान खम्हरिया के पास सामने से ग्रामीणों से भरे टैक्टर क्रमांक सीजी 15 एई- 3028 से पिकअप टकरा गई। इससे मौके पर ही पांच बारातियों की मौत हो गई ।
 
मेडिकल कालेज में इनका चल रहा उपचार
हादसे में घायल लोगों में पिकप सवार चमन राम पिता बुधिया राम 50 वर्ष मुड़गांव उदयपुर, अशोक पिता रामचरण 30 वर्ष निवासी कवलगिरी उदयपुर, जगरोपन खांडे पिता मंगल साय 30 वर्ष निवासी डांड़गांव, उदयपुर, रामचरण पिता ठुना राम 45 वर्ष, भुलसी पिता सोमार साय 16 वर्ष निवासी डांड़गांव, रविशंकर पिता बहोरन राम 16 वर्ष निवासी पंडरीपानी उदयपुर, सागर पिता दूहन राम 15 वर्ष निवासी डांड़गांव शामिल हैं। 
 
आनन-फानन शादी निपटा अस्पताल पहुंचे परिजन
हादसे के बारे में दुल्हे मनियार राम सहित दूसरे बारातियों को उस समय पता चला जब वे दुल्हन के घर ग्राम कंदरई बासेनपारा में शादी के लिए बनाए गए जनवासे में पहुंच गए थे। इससे शादी की खुशियां मातम में बदल गई। दुल्हन वाले भी हादसे की खबर से शोक में डूब गए। आनन-फानन में दूल्हा व दुल्हन की शादी कराई गई। इसके बाद रात में ही सभी बाराती घायलों की मदद के लिए सीधे अंबिकापुर मेडिकल कालेज अस्पताल पहुंचे। घटना से डांड़गांव सहित आस-पास के क्षेत्र के लोग शोक में डूब गए हैं।
 
अंधेरे में नाइट विजन गागल्स पहन पायलट ने भरी उड़ान
मानवता के नाते एयर फोर्स ने इस पूरे आपरेशन में नियमों को दरकिनार कर मदद की। रात में रायपुर एयरपोर्ट को खुलवाया गया और हेलीकाप्टर को रेस्क्यू करने रवाना किया। आपरेशन के लिए एयर फोर्स ने सुरक्षा के मद्देनजर ऐहितियात बरती। नक्सल क्षेत्र होने से हेलीकाप्टर की लाइट बुझाई गई और पायलट ने नाइट विजन गागल्स की मदद से घायलों का रेस्क्यू किया। दरिमा हवाई पट्‌टी पर भी हेलीकाप्टर की मदद के लिए वहां खड़ी गाड़ियों की लाइट जला दी गई थी ताकि पायलट को एयर स्ट्रिप की स्थिति के बारे में ऊपर से पता चल सके। 
 
दो घायलों की जान बचाने पहुंचा हेलीकाप्टर
हादसे के बारे में पता चलने पर प्रशासन व पुलिस विभाग हरकत में अा गया। आईजी हिमांशु गुप्ता ने गंभीर रूप से दो घायलों मुनेश्वर पिता गोवर्धन 15 वर्ष निवासी बकरिमा गांधीनगर व एक महिला केशव निवासी करौंधी को रायपुर ले जाने नक्सल आपरेशन में लगे टास्क फोर्स के कमांडर अजय शुक्ला से मदद मांगी। वे तैयार हो गए। एयर फोर्स का एमआई- 17 हेलीकाप्टर तड़के 5 बजे भोर में दरिमा हवाई पट्‌टी में उतरा। इधर पहले से कलेक्टर भीम सिंह, आईजी व एसपी नायक दोनों घायलों को लेकर अधिकारी दरिमा पहुंचे थे। 
 
हादसे में इनकी हुई है मौत
हादसे में मृतकों में नउवा राम पिता भगत राम 50 वर्ष निवासी डांड़गांव उदयपुर, शंकर पिता जगमोहन राम 15 वर्ष निवासी डांड़गांव उदयपुर, रामभरोस पिता बुध राम 25 वर्ष निवासी टिखरी प्रेमनगर, फारेस्टकर्मी गोवर्धन राम निवासी बकिरमा अंबिकापुर व रविंद्र पिता बीगन राम 16 वर्ष निवासी कोयला टिकरा दरिमा शामिल हैं। गोवर्धन राम साल्ही बैरियर पर फोरस्ट गार्ड के पद पर पदस्थ था। सभी मृतक पिकप में सवार थे।  
 
पिछले साल कुछ दूर ही दुल्हा-दुल्हन सहित हुई थी 8 मौतें
रविवार की रात खम्हरिया में जहां हादसा हुआ हैं, वहां से करीब 100 मीटर दूर इसी रोड में पिछले साल मई में शादी के बाद सुबह दुल्हन को लेकर जा रहे दूल्हे व बाराितयों से भरी स्कार्पियो अनियंत्रित होकर पलट गई थी। इस हादसे में दूल्हा-दुल्हन सहित 8 लोगों की मौत हो गई थी। रात की घटना से लोग पिछले साल के हादसे को भी याद कर सहम गए। 
खबरें और भी हैं...