पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

जज का आरोप-पत्नी ने किए फर्जी हस्ताक्षर, वसूली रकम

9 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
बिलासपुर. राजनांदगांव जिले के छुईखदान में पदस्थ सिविल जज (वर्ग-2) शैलेश शर्मा अपनी ही पत्नी के खिलाफ थाने पहुंच गए। धोखाधड़ी का मामला दर्ज कराया।
थानेदार से बोले-उनकी पत्नी एन शर्मा ने 6 चेक पर फर्जी हस्ताक्षर किए। रिश्तेदारों से दो लाख रुपए वसूल लिए। साथ ही जज की पत्नी का हवाला देते हुए उधारी में ज्वेलरी भी खरीद ली। पिछले साल 26 दिसंबर को जुर्म दर्ज होने के बाद संभावित गिरफ्तारी से बचने के लिए पत्नी हाईकोर्ट पहुंच गई। पर उन्हें राहत नहीं मिली।
मंगलवार को जस्टिस मनींद्र मोहन श्रीवास्तव की सिंगल बेंच ने उनकी अग्रिम जमानत की याचिका खारिज कर दी। छुईखदान थाना प्रभारी दिलीप सिसोदिया का कहना है कि जज ने शिकायत में कहा है कि उसकी पत्नी ने चेक पर फर्जी हस्ताक्षर तो किए हैं पर उसका इस्तेमाल नहीं किया। यह चेक पत्नी के ही पास है। अब मामला हाईकोर्ट में है, इसलिए वहां से डायरी पहुंचने के बाद ही कोई कार्रवाई की जाएगी।