पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • आईआईटी: नेवई हर मामले में सांकरा से बेहतर

आईआईटी: नेवई हर मामले में सांकरा से बेहतर

7 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
इंडियनइंस्टीट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी के लिए साकरा की अपेक्षा नेवई हर मामले में कहीं ज्यादा उपयुक्त है। आईआईटी के लिए केंद्र सरकार ने नेवई और साकरा की जमीन पर मुहर लगा दी है। अब मानव संसाधन विकास मंत्रालय तय करेगा कि आईआईटी नेवई में खोला जाए या फिर साकरा में। दोनों जगहों में जमीन पर्याप्त है। केंद्र सरकार से जमीन की स्वीकृति मिलते ही दैनिक भास्कर ने गुरुवार को दोनों जगहों का जायजा लिया, तो यह बात सामने आई कि सांकरा की अपेक्षा नेवई हर मामले में कहीं ज्यादा उपयुक्त है। सांकरा की तुलना में नेवई में सुविधाएं ज्यादा हैं।

नेवई में सुविधाएं और संसाधन ज्यादा

केंद्र ही तय करेगा सब कुछ

^आईआईटीके लिए नेवई और साकरा की पूरी डिटेल केंद्र सरकार को दे दी है। अब वो निरीक्षण करने आएंगे। तब वे तमाम बिंदुओं पर जांच करेंगे। केंद्र ही तय करेगा कि आईआईटी कहां बनेगा। हमने कोई एक स्थान को तय नहीं किया है।” अमितअग्रवाल, सचिव,तकनीकी शिक्षा विभाग

सांकरा में ये सुविधाएं नहीं

{रेलसुविधा: अभीपाटन ब्लॉक में रेलवे की सुविधा नहीं है।

{इंफ्रास्ट्रक्चरनहीं: जिसगांव का चयन किया गया है, वह पूरी तरह से भाठा है। जमीन ठीक है, लेकिन इंफ्रास्ट्रक्चर डेवलप करना पड़ेगा।

{पानी:पाटनब्लाक में पानी पर्याप्त है, लेकिन गांव में यह सुविधा कम है। जबकि नेवई में पानी की सुविधा बेहतर है।

{उद्योग:क्षेत्रमें बड़े-बड़े उद्याेग नहीं है। जबकि आईआईटी जैसे संस्थानों के आसपास ये जरूरी है।

{टेलीकॉमकनेक्टिविटी: क्षेत्रआउटर है। यहां संचार माध्यम भी पिछड़ा हुआ है।

{रेल: नेवईसे 10 किलोमीटर की दूर पर तीन-तीन रेलवे स्टेशन पावर हाउस, भिलाई नगर और दुर्ग है। स्पेशल और एक्सप्रेस ट्रेनों का स्टॉपेज है।

{परिवहन:नेवईनेशनल हाइवे के किनारे में है। यहां बड़े वाहनों का आवागमन है। बस और ऑटो की सुविधा आसानी से मिल जाती है।

{मूलभूतसुविधा: नेवईइलाके में बिजली, पानी और सड़क की समस्या नहीं के बराबर है। यह इलाका अभी बीएसपी के अधिन में है। यहां सारी सुविधाएं डेवलप हो रही है।

{पढ़ाईका स्टैंडर्ड: भिलाईको एजुकेशन हब कहा जाता है। यहां हर साल आईआईटी, एनआईटी और ट्रिपल आईटी के लिए सैकड़ों बच्चे सलेक्ट होते हैं। स्टेट टॉपर भी यहीं के होते हैं।

{बीएसपीप्लांट: आईआईटीजैसे संस्थान में रिसर्च एंड डेवलपमेंट को बीएसपी के कारण बढ़ावा मिल