पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • संचार व्यवस्था अपडेट करने आए 11 करोड़ के उपकरण पड़े हैं कबाड़ में

संचार व्यवस्था अपडेट करने आए 11 करोड़ के उपकरण पड़े हैं कबाड़ में

7 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
बीएसपीमें संचार व्यवस्था अपडेट करने के लिए मंगाए गए 11 करोड़ के इलेक्ट्रानिक्स उपकरण कबाड़ में तब्दील होते जा रहा हैं। खुले में रखे ज्यादातर उपकरणों को दीमक चट कर रहे हैं। कई उपकरण खराब हो भी चुके हैं। बीएसपी अपनी टेलीकम्युनिकेशन सिस्टम को अपडेट कर रहा है। ऑनलाइन कांट्रैक्ट में यह काम आरेंज नाम की एजेंसी ने 11 करोड़ में लिया है। एजेंसी प्रबंधन की डिमांड अनुसार सभी इलेक्ट्रानिक्स आयटम की डिलीवरी कर चुका है। जिसे बीएसपी का टेलीकॉम डिपार्टमेंट अपने आधिपत्य में लेने के बाद सेक्टर 5 एक्सचेंज के शेड के नीचे खुले में रखवा दिया। जहां बारिश का पानी इन उपकरणों में घुस गया था। वहीं प्लांट के अंदर एक्सचेंज अपडेट करने का काम धीमी गति से चल रहा है। लिहाजा अवधि बीतने के 6 महीने बाद भी पहले फेज का काम पूरा नहीं हो पाया है। सूत्र बताते हैं कि पहले फेज का दिसंबर 2013 तक पूरा करने के बाद दिसंबर 2014 तक दूसरे फेज का काम पूरा करने का लक्ष्य है।

संचार विभाग जिम्मेदार

इस्पातश्रमिक मंच के कार्यकारी महासचिव राजेश अग्रवाल ने इसके लिए बीएसपी संचार विभाग को जिम्मेदार ठहराया। इतने महंगे इलेक्ट्रॉनिक्स उपकरणों को रखने जगह नहीं थी तो उसे आधिपत्य में नहीं लेना था। ले लिया है तो सुरक्षित रखने की जिम्मेदारी भी उसकी है। इससे प्रबंधन का दोहरा मापदंड सामने गया है जो कर्मियों के हितों का मामला आने पर मितव्ययिता की दुहाई देता है।

घर बैठे वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग : बीएसपीसंचार सिस्टम अपडेट होने के बाद अफसर घर बैठे वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग कर सकेंगे। पहले फेज में टाउनशिप इन साइड प्लांट में ऑप्टिकल फाइबर केबल लाइन बिछाई जा चुकी है। सभी प्रमुख सुविधाएं अफसरों को मिलने लगेगी।

प्रोजेक्टर से काम चला रहे सीईओ

खरीदेगए तमाम मानीटर खराब निकलने के कारण सीईओ के कॉन्फ्रेंसिंग हॉल में अब तक दूसरा मानीटर नहीं लगाया जा सका है। लिहाजा काम चलाने के लिए प्रोजेक्टर लगाया गया है। पीएम ट्राफी की अससेर टीम जब दौरे पर आई थी उन्हें भी बीएसपी की उपलब्धियों का प्रेजेंटेशन प्रोजेक्टर पर ही दिखाया गया था।

इस तरह हुआ मामले का खुलासा

कुछदिनों पूर्व सीईओ दफ्तर के कॉन्फ्रेंसिंग हॉल का सोनी कंपनी का एलसीडी मॉनीटर खराब हो गया। तब प्रेजेंटेशन चल रहा था। नया मॉनीटर लगाने टेलीफोन विभाग के अफसर ने स्टाफ को सेक्टर पांच एक्सचेंज भेजा।