पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • गेहूं के साथ मिट्टी तौलने पर किया हंगामा

गेहूं के साथ मिट्टी तौलने पर किया हंगामा

7 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
गुरुवारसुबह राशन लेने आए लोगों ने गेहूं में ज्यादा मिट्‌टी और कंकड़ हाेने पर हंगामा किया। मामला हाउसिंग बोर्ड के वार्ड 16 की शासकीय उचित मूल्य दुकान का है। हंगामा करने वाले लोगों की शिकायत थी कि उन्हें गेहूं में मिट्टी मिलाकर दिया गया है। इसकी जानकारी जब दुकान संचालक दशरथ प्रसाद देवांगन को दी गई तो उन्होंने राशन बदलकर देने की बात कही। तब कहीं जाकर मामला शांत हुआ।

वार्ड के लोगों का कहना है कि निरंतर उचित मूल्य की दुकान में विक्रेता द्वारा राशन में कम तौल और गुणवत्ताहीन राशन देने की शिकायत दुर्ग जनदर्शन में भी की जा चुकी है। हाउसिंग बोर्ड निवासी अफजल खान और रचना शिंगोरे सहित 15 से अधिक लोग गुरुवार सुबह राशन लेने के बाद वार्ड पार्षद पीयूष मिश्रा से मिले और विक्रेता की शिकायत की।

वार्ड16 की दुकान वार्ड 15 में क्यों : वार्ड16 के लोगों की शिकायत है कि दुकान वार्ड 16 के लिए है तो वार्ड-15 में संचालित क्यों किया जा रहा है। वार्ड से बाहर दुकान होने पर उन्हें राशन मिलने की जानकारी भी समय पर नहीं मिलती है।

आपको शिकायत हो तो फूड इंस्पेक्टर से करें शिकायत

इसमामले को लेकर जब फूड इंस्पेक्टर मनीष चीतला से बात की गई तो उन्होंने बताया कि अगर किसी भी राशन दुकान में सप्लाई के दौरान खराब अनाज आता है तो वह राशन लेने से साफ मना कर सकते हैं। इसके बाद भी यदि अनाज ठीक नहीं है तो इसकी शिकायत फूड इंस्पेक्टर और खाद्य अधिकारी से की जा सकती है, जिसके बाद अनाज बदलकर दुकानदार को दिया जाता है। अगर विक्रेता द्वारा हितग्राही को गुणवत्ताहीन अनाज दिया जा रहा है तो इसमें विक्रेता की गलती है।

मामले की होगी जांच

प्रभारीखाद्य नियंत्रक तरुण कुमार राठौर ने बताया कि किसी भी शासकीय उचित मूल्य की दुकान में अगर किसी प्रकार की अनियमितता बरती जा रही है तो हितग्राही सीधे नगर निगम में शिकायत कर सकते हैं। क्योंकि कोई भी विक्रेता हितग्राही को खराब सामान नहीं दे सकता। खराब राशन की जानकारी दुकानदार को हमें देनी होती है और उसके बाद अनाज बदलकर दूसरा दिया जाता है। इसलिए विक्रेताओं को अनाज लेते समय ही अनाज की जांच करने के निर्देश दिए गए हैं।