पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • कार्तिक पूर्णिमा पर शिवनाथ में किया स्नान

कार्तिक पूर्णिमा पर शिवनाथ में किया स्नान

7 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
कार्तिकपूर्णिमा पर गुरुवार को शिवनाथ नदी के तट पर दुर्ग-भिलाई आसपास क्षेत्रों के सैकड़ों लोगों ने मोक्ष प्राप्ति के लिए स्नान किया। श्रद्धालुओं ने नदी के समीप स्थित शिव मंदिर में पूजा अर्चना की और मेले का आनंद उठाया। अवकाश के कारण दिनभर मेले में लोगों की आवाजाही लगी रही। बच्चों ने झूलों तो बड़ों ने खानपान का आनंद उठाया।

ज्यातिषाचार्य विनोद चौबे ने बताया कि कार्तिक माह का सभी युगों में विशेष महत्व रहा है। इसे भगवान विष्णु का महीना माना जाता है। कार्तिक में भगवान विष्णु की आराधना करने से विशेष फल की प्राप्ति होती है। इस दिन का पौराणिक महत्व भी है। कहा जाता है कि पूर्णिमा के ही दिन भगवान शंकर के पुत्र कार्तिक ने त्रिपुरासुर का वध किया था और धरती को उसके आतंक से मुक्ति दिलाई थी। इसी दिन अंगरा ऋषि ने भगवान विष्णु के नाखून से जल ग्रहण किया था। महाभारत के युद्ध से विचलित युधिष्ठिर ने भगवान कृष्ण के कहने पर इसी दिन यज्ञ किया था। जिससे उनके मन को शांति मिली थी।

दोनों धर्मों को जोड़ने वाला है यह पर्व

सिखसमुदाय के गुरु नानक देव का जन्म कार्तिक पूर्णिमा के ही दिन हुआ था। इसलिए आज के दिन को सिख समुदाय गुरुनानक जयंती और हिंदू समाज कार्तिक पूर्णिमा के नाम से मनाता है।

शिवनाथ नदी से जल लेकर कावंरिया संघ ने की पूजा

बाबा प्रेम कांवरिया संघ ने कांवर की पूजा की।