पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • Local
  • Chhattisgarh
  • Bhilai
  • जामगांव आर में स्वास्थ्य केंद्र की मांग, सौंपा ज्ञापन

जामगांव आर में स्वास्थ्य केंद्र की मांग, सौंपा ज्ञापन

4 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
भास्कर न्यूज|जामगांव आर(बेल्हारी)

दक्षिण पाटन का केंद्र बिंदु कहे जाने वाले उपतहसील जामगांव आर में स्वास्थ्य सुविधा के विस्तार के लिये सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र की दरकार है। यहां सीएचसी खुलने से दक्षिण पाटन के 69 ग्रामों के एक लाख से ज्यादा आबादी को इसका लाभ मिलेगा।

गौरतलब है कि बीते वर्षों से यहां सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र खोलने की मांग को लेकर अंचल के गणमान्य नागरिकों द्वारा लगातार प्रयास किये जा रहे हैं पर शासन-प्रशासन द्वारा अब तक इस दिशा में कोई ठोस पहल नहीं किया गया है ,यहां तक कि जिला और ब्लॉक के स्वास्थ्य विभाग के जिम्मेदार अफसर भी यहां सीएचसी की जरूरत को स्वीकारते है बावजूद यहां सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र की स्थापना को लेकर कोई भी मजबूत कार्यवाही नहीं हो सकी है सम्पन्न लोक सुराज में इसके लिये ग्रामीणों द्वारा उठाई गई मांग भी सिर्फ दस्तावेज पर ही चलता दिख रहा है। इस संबंध में ज्ञापन सौंपा गया है।

स्वास्थ्य अधिकारी ने माना आवश्यकता को
पिछले 5 वर्ष से ग्रामीण कलेक्टर से लेकर मुख्यमंत्री तक स्वास्थ्य केन्द्र की स्थापना के लिये बराबर कागजी घोड़े दौड़ा रहे हैं। अभी हालिया लोक सुराज शिबिर में फिर इसकी मांग बलवती हुई ,जिस पर जिले के मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी की ओर से संचालक स्वास्थ्य सेवाएं को पत्राचार कर यहां सीएचसी स्थापना के लिये प्रस्ताव भेजा गया है अप्रेल माह की इस कागजी कार्यवाही की जानकारी भर पंचायत को दी गई पर लेकिन इस पर अब तक कोई अंतिम स्थिति स्पष्ट नहीं हो सकी है।

उल्लेखनीय है कि ब्लॉक के मध्य में पाटन नगर और उत्तर में झीट में सीएचसी सेंटर स्थापित है पर विकासखंड का दक्षिणी छोर की एक लाख से ज्यादा की आबादी महज तीन पीएचसी के भरोसे चल रहा है !वहीं उपतहसील जामगांव आर में भी नगरवासी उपस्वास्थ्य केंद्र में ही इलाज के लिये निर्भर है,वर्तमान में यहां से 8 से 10 किमी के दायरे में बटरेल,रानीतराई, एवं गाड़ाडीह में प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र संचालित है जहां क्षेत्र के 69 गांव की बड़ी आबादी प्राथमिक स्वास्थ्य सुविधा के लिये निर्भर है पर बड़ी बीमारी,दुर्घटना,मेजर डिलीवरी केस सहित उच्च स्तर की स्वास्थ्य सेवा के लिये लोगों को पाटन की दूरी तय करनी पड़ती है इसी प्रकार दुर्ग,भिलाई,धमतरी की सुविधा भी तकरीबन इतनी ही दूरी पर है इसीलिए अंचल के ज्यादातर लोग स्वास्थ्य सुविधा के लिये जिला मुख्यालय की ओर रुख करते है , जिसमे लोगों के समय के साथ धन की बर्बादी भी होती है। सीएचसी खुलने से 69 ग्रामों के 101161 लाभान्वित हो सकेंगे।

69 गांव,1 लाख आबादी, पर 1 भी सीएचसी नहीं
खबरें और भी हैं...