• Hindi News
  • Local
  • Chhattisgarh
  • Bhilai
  • अभियान: युवाओं को होना चाहिए शिक्षित, शादी में नहीं होगी देरी

अभियान: युवाओं को होना चाहिए शिक्षित, शादी में नहीं होगी देरी

5 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
बेटा बचाओ, बेटा पढ़ाओ अभियान का आगाज करते हुए मां शक्ति महिला सहयोग समिति के ब्लाक सचिव चतुर सिंह साहू ने कुम्हली में रैली निकाली। यहां हाथों में तख्तियां लिए ग्रामीणों से कहा कि शासन के बेटी बचाओ, बेटी पढ़ाओ अभियान को जोरदार सफलता मिली। यह यह बड़ी अच्छी बात है।

इसी तर्ज पर बेटों के लिए भी ऐसी पहल होनी चाहिए। चतुर सिंह ने कहा कि कॉलेज और स्कूलों में अभी हम देखते हैं कि 1 अनुपात (बेटा) और 2 अनुपात (बेटी) दिखती है। आखिर ऐसा क्यों? उन्होंने इसके लिए तर्क भी दिए। कहा कि बेटों की पढ़ाई कम और बेटियों की ज्यादा होने के कारण अक्सर उनकी शादी नहीं हो पाती। इससे वैवाहिक जीवन में प्रतिकूलता को नकारा नहीं जा सकता। बेटी पढ़ी लिखी है, वह लड़का भी वैसा ही चाहती है। लेकिन समाज में पढ़े लिखे बेटों का अभाव झलकने लगा है। यह तो केवल बेटों के साथ ही नहीं, बेटियों के साथ भी विडंबना पैदा करने वाली स्थिति है। गांव के सभी लोगों ने इस पहल का स्वागत किया। ललित साहू, फनिंद चंद्राकर, लीलाधर, जितेंद्र, लेखन सिन्हा, शंकर साहू, महावीर साहू, चंदन, गोविंद, अनिल, रोशन चंद्राकर, मुकेश कुमार ने कहा कि बेटा बचाओ, बेटा पढ़ाओ अभियान समय की मांग है। इस पर शासन को भी अभियान चालकर संतुलन बनाए रखना चाहिए। जल्द ही इसे लेकर अभियान तेज किया जाएगा। गांव-गांव में जागरूकता लाएंगे।

कुम्हली में हाथों में तख्तियां लिए गांव के युवा।

खबरें और भी हैं...