• Hindi News
  • Local
  • Chhattisgarh
  • Bhilai
  • दो होटल व कांप्लेक्स का बेसमेंट सील, सुपेला के होटल संचालकों ने कार्रवाई से पहले ही किया पार्किंग

दो होटल व कांप्लेक्स का बेसमेंट सील, सुपेला के होटल संचालकों ने कार्रवाई से पहले ही किया पार्किंग खाली, आगे होगी मानीटरिंग

4 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
भास्कर फॉलोअप
निगम आयुक्त ने सभी संस्थानों के संचालकों को बेसमेंट खाली करने का निर्देश जारी किया

प्रशासनिक रिपोर्टर| भिलाई

बेसमेंट का उपयोग पार्किंग की बजाय व्यावसायिक उपयोग करने वालों के पर नगर निगम भिलाई अब सख्त हो गया है। शुक्रवार को निगम ने नेहरू नगर स्थित होटल ग्रैंड ढिल्लन और शकुंतला अग्रवाल व्यावसायिक कांप्लेक्स का बेसमेंट सील किया।

यह कार्रवाई आगे भी जारी रखने के संकेत निगम आयुक्त केएल चौहान ने दिए हैं। आयुक्त ने कहा शहर के होटल व व्यावसायिक कांप्लेक्स के बेसमेंट में अगर पार्किंग नहीं मिला तो हम सीधे कार्रवाई करेंगे। सभी को बेसमेंट खाली करने के निर्देश दिए हैं। अगर इसका पालन नहीं करेंगे तो सीलबंद की कार्रवाई करेंगे। शुक्रवार को ही कलेक्टर उमेश कुमार अग्रवाल भिलाई में चल रहे विकास कार्यों का दौरा करने आए थे। तब उन्होंने आयुक्त को साफ कहा था कि बेसमेंट के खिलाफ कार्रवाई जारी रखें। इनके खिलाफ नियमानुसार कार्रवाई होनी चाहिए। कलेक्टर से आदेश मिलने के दो घंटे बाद निगम की टीम बेसमेंट का हाल देखने पहुंच गई। नेहरूनगर से कार्रवाई शुरू की थी। इसलिए शुक्रवार को भी सबसे पहले टीम नेहरू नगर के होटल ग्रैंड ढिल्लन और शकुंतला अग्रवाल कांप्लेक्स गई। दोनों जगहों के बेसमेंट में पार्किंग की बजाय व्यावसायिक उपयोग पाया गया। तत्काल निगम की टीम ने बेसमेंट बंद कर दिया। अब आगे की कार्रवाई चल रही है। कार्रवाई के बाद इसकी मानीटरिंग भी की जाएगी। इस दौरान निगम के प्रफुल्ल श्रीवास्तव, सुरेश केवलानी, दयालदास साहू, दीपक अगतकर, प्रकाश अग्रवाल, बालकृष्ण नायडू, रामायण सिंह, सहित तोड़फोड़ दस्ता के सदस्य मौजूद रहे।

बेजा कब्जा के खिलाफ चलेगा अभियान
शहर में हुए बेजा कब्जा के खिलाफ निगम अभियान चलाएगा। आयुक्त ने इसके लिए तोड़ूदस्ते टीम को निर्देश दिए हैं। कहा है, कार्रवाई रूकनी नहीं चाहिए। शहर की ट्रैफिक व्यवस्था दुरूस्त करने पुलिस प्रशासन के साथ मिलकर अभियान चलाया जाएगा। यह अभियान सतत् जारी रखें।

नेहरू नगर स्थित अग्रवाल कांप्लेक्स को सील किया गया।

पहली बार पहुंची टीम, ढिल्लन के बेसमेंट में मिला कबाड़
शुक्रवार को जब निगम की टीम बेसमेंट का स्टेटस जानने पहुंची तो टीम हैरान हो गई। होटल ग्रैंड ढिल्लन के बेसमेंट में टीम को कबाड़ मिला। जबकि, निगम का अमला यहां पहली बार आया था तब बेसमेंट खाली करने स्पष्ट निर्देश दिए थे। कुछ ऐसा ही शकुंतला अग्रवाल व्यावसायिक कांप्लेक्स का है। कांप्लेक्स के बेसमेंट में ताला लगा था। जांच टीम के सदस्यों को व्यवसायिक परिसर के संबंधितों द्वारा उचित जवाब नहीं मिला।

सभी होटल व व्यावसायिक कांप्लेक्स संचालकों को
शुक्रवार को शहर के सभी व्यावसायिक कांप्लेक्स व होटल संचालकों को भवन अनुज्ञा विभाग ने तलब किया है। उनसे पूछा है कि बेसमेंट खाली हुआ कि नहीं? अगर नहीं हुआ तो क्यों नहीं? इन सवालों के जवाब अधिकारियों ने संचालकों से मांगे तो गोलमोल जवाब देने लगे। कई होटल संचालकों ने बेसमेंट को खाली करा दिया है। इसमें ज्यादातर सुपेला एरिया के होटल है।

1. शहर के कितने होटल व व्यावसायिक कांप्लेक्स में बेसमेंट का प्रावधान है?

2. जहां बेसमेंट का प्रावधान, वहां पार्किंग का क्या स्टेटस है? आयुक्त ने मांगी रिपोर्ट।

इधर आयुक्त ने दो बिंदुओं में मांगी रिपोर्ट...
खबरें और भी हैं...