• Hindi News
  • Chhattisgarh
  • Bhilaidurg
  • संस्कृत को आम भाषा बनाने 23 स्थानों पर खुलंेगे जनभाषा केंद्र
--Advertisement--

संस्कृत को आम भाषा बनाने 23 स्थानों पर खुलंेगे जनभाषा केंद्र

Durg Bhilai News - भास्कर न्यूज | जामगांव-आर (बेल्हारी) संस्कृत को लोगों की आम भाषा बनाने के लिए दुर्ग जिले के रिसाली, बोरसी, जामगांव...

Dainik Bhaskar

Nov 05, 2017, 02:20 AM IST
संस्कृत को आम भाषा बनाने 23 स्थानों पर खुलंेगे जनभाषा केंद्र
भास्कर न्यूज | जामगांव-आर (बेल्हारी)

संस्कृत को लोगों की आम भाषा बनाने के लिए दुर्ग जिले के रिसाली, बोरसी, जामगांव आर, खुड़मुड़ी, जामगांव एम, बोरई, खुर्सीपार, वैशालीनगर, मेड़ेसरा, जामुल, बेल्हारी,अंजोरा (ख) कुरूद, सेलूद, भनसुली, बिरेझर, बोरी, तिलक स्कूल दुर्ग, रानीतराई, खपरी, लिटिया, ओदरहागहन स्थित स्कूल में संस्कृत जनभाषा केंद्र खोला जाएगा। यहां बच्चे आकर संस्कृत की पढ़ाई करेंगे। संस्कृत में बोलने और लिखने का अभ्यास कर सकेंगे। संस्कृत विद्या मंडलम् और जिला शिक्षा विभाग ने इसकी सैद्धांतिक मंजूरी दे दी है। यहां सेवाएं देने वाले शिक्षक समाजसेवी के रूप में केंद्र का संचालन करेंगे।

छत्तीसगढ़ राज्य स्थापना दिवस के अवसर पर शासकीय हायर सेकंडरी स्कूल बेल्हारी में प्रबंधन समिति, शिक्षकों और छात्रों की उपस्थिति में केंद्र की शुरुआत की गई। कार्यक्रम के मुख्यअतिथि प्रबंधन समिति के पूर्व अध्यक्ष याद मल गोलछा ने कहा कि हमारी संस्कृति आदिकाल से प्रवाहित है। इसमें संस्कृत भाषा की अहम भूमिका है। यह केवल भाषा मात्र नहीं बल्कि ज्ञान का भंडार है। इससे व्यक्तित्व का विकास होता है। उन्होंने शिक्षा विभाग के पहल की सराहना की। कार्यक्रम की अध्यक्षता करते हुए प्राचार्य सी केरकट्टा ने की। उन्होंने बताया कि वैश्विक स्तर पर स्पर्धा में भारत को श्रेष्ठ बनने के लिए संस्कृत में ज्ञान-विज्ञान के साथ मानवीय मूल्यों का समावेश है। केंद्र प्रभारी योगेंद्र कुमार साहू ने बताया कि यहां विद्यार्थियों को संस्कृत व्याकरण और बोलचाल की जानकारी दी जाएगी। नागरिकों को भी बोलचाल की भाषा में संस्कृत के शब्दों को सरलता से शामिल करने की जानकारी दी जाएगी। कार्यक्रम में एल हिरवानी, केके जायसवाल, नीतू नायक, सुनील तिवारी, के हेमा वती, उत्तम पटेल, नीता वर्मा, सीके साहू, मुकेश्वरी ध्रुव, चंचला साहू आदि उपस्थित थे।

बिरेझर गांव के स्कूल में भी खोला गया जनभाषा केंद्र

उतई। ग्राम बिरेझर में छत्तीसगढ़ विद्यामण्डलम् एवं शालेय शिक्षा विभाग दुर्ग की ओर से हाई स्कूल में संस्कृत जन भाषा केंद्र खोला गया। इसका उद्देश्य वर्तमान समय मे संस्कृत भाषा को आम बोलचाल की भाषा बनाना है। भाषाओं की उत्पत्ति संस्कृत से हुई है। इस अवसर पर सदस्य ललित चंद्राकर, सरपंच दुलेश्वरी देशमुख, शाला विकास प्रबंधन सीमित उपाध्यक्ष संतोष गर्ग, प्राचार्य वसुदेव चौधरी, गणित व्याख्याता तमन्ना खातून, अंग्रेजी व्याख्याता मंजू सेन, एवं संस्कृत शिक्षक रमन वर्मा ने जानकारी दी।

बेल्हारी और बिरेझर गांव के स्कूलों में की गई जनभाषा केंद्र की शुरुआत।

X
संस्कृत को आम भाषा बनाने 23 स्थानों पर खुलंेगे जनभाषा केंद्र
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..