पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • पार्षद वार्डवासियों ने रुकवाया मोबाइल टॉवर का काम

पार्षद वार्डवासियों ने रुकवाया मोबाइल टॉवर का काम

7 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
टेलीकॉमकंपनी एयरटेल की ओर से गया नगर में लगाए जा रहे मोबाइल टावर का गुरुवार को वार्डवासियों ने विरोध किया। जिसके बाद पार्षद दिनेश देवांगन ने वार्डवासियों के साथ मिलकर निर्माण कार्य रुकवा दिया।

पार्षद ने बताया कि क्षेत्रवासी को गुमराह कर कंपनी जगह-जगह टावर लगवा रही है। टावर से निकलने वाले खतरनाक विकिरण को ध्यान मेंं रखकर निर्माण कार्य बंद कराया गया है। उन्होंने बताया कि कंपनी के अधिकारियों को भविष्य में भी इस स्थल पर टावर नहीं लगाने की चेतावनी दी गई है। अपनी जमीन पर टावर लगाने का परमिशन देने के लिए भूमि स्वामी को भी इस बारे में स्पष्ट कर दिया गया है।

पहले भी इस क्षेत्र में मोबाइल कंपनियों द्वारा टावर खड़े करने का पार्षद मोहल्लेवासी के विरोध का सामना करना पड़ा है। इसके बाद भी कंपनियों को परमिशन मिलने से निगम प्रशासन के खिलाफ वार्डवासियों में आक्रोश है। प्रदर्शन के दौरान उत्तम साहू, उषा सोनी, गीता देवांगन, भुलिन बाई नगरे, महेश साहू, चंचल तिवारी, डिलेश्वरी राजपूत, नलिनी यादव, उमा, उत्तम कौशल, विनायक भट्ट, मनोज कसार, नीरा बाई, मती बाई आदि उपस्थित थे।

जमीन मालिक मजदूरों से पूछताछ की तो सैप्टिक टैंक बनानेे की दी झूठी जानकारी

वार्ड4 मुक्तिधाम के पीछे, गया नगर में चतुर मानिकपुरी ने बाउंड्रीयुक्त अपनी जमीन में एयरटेल कंपनी को टावर लगाने की स्वीकृति दी थी। जहां पर कंपनी की ओर से गुपचुप रूप से टावर लगाया जा रहा था। दीवार के भीतर होने के कारण बाहर से लोगों को इसकी भनक भी नहीं लग रही थी। लेकिन बस्ती के बीच वाहनों में बड़े-बड़े सामान काे आधी रात आते देख मोहल्ले वालों को शंका हुई। इसके बाद उन्होंने जमीन मालिक सहित निर्माण कर रहे मजदूरों से पूछताछ की तो सैप्टिक टैंक बनाने का कार्य चलने की झूठी जानकारी दी गई और गेट बंद कर अंदर काम जारी रखा गया। फिर मोहल्ले वालों ने इसकी लिखित शिकायत वार्ड पार्षद दिनेश देवांगन से की। पार्षद ने राजीव नगर पार्षद भूलन साहू और लोगों के साथ निर्माण स्थल पहुंचकर काम बंद कराया और मिक्चर ग्राइंडर मशीन सहित निर्माण से संबंधित सभी सामानों को बाउंड्रीवाल के बाहर करवाया गया।

गुरुवार को गयानगर में पार्षद दिनेश देवांगन के नेतृत्व में टावर का विरोध करते लोग।

कंपनियों को परमिशन देने से निगम प्रशासन के खिलाफ वार्डवासियों में आक्रोश