पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • गुरुनानक जयंती पर अरदास और लंगर

गुरुनानक जयंती पर अरदास और लंगर

7 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
शहर में गूंजा जो बोले सो निहाल, सत श्री अकाल

जोबोले सो निहाल, सतश्री अकाल का जयकारा गुरूवार को शहरभर में गूंजा। बड़ी संख्या में सिख समाज जन सिख धर्म के संस्थापक गुरु नानकदेव जी की महिमा का गुणगान करते शहर के प्रमुख मार्गों से निकले।

अव्वल अल्लाह नूर उपाया कुदरत ते सब बंदे की सुमधुर लाइनों को जत्थों द्वारा गाया जा रहा था। रंग-बिरंगे फूलों से सजी शोभायात्रा का जगह-जगह लोग आत्मीय स्वागत कर रहे थे। पूरे रास्ते भर प्रसाद का वितरण किया जा रहा था। इस शोभायात्रा में शस्त्र कला युद्ध कौशल के प्रदर्शन ने खासा रोमांच जगाया। यहां पर गुरुसिंह सभा के गुरुद्वारा में 11 बजे से कीर्तन की शुरुआत हो गई थी। कीर्तन से पहले पूर्ण गुरुसिखी मर्यादा के अनुसार अरदास की गई। दोपहर गुरू के अटूट लंगर के बाद सुसज्जित ट्रक में सजी हुई पालकी में गुरुग्रंथ साहिब को विराजमान किया गया, यहां सिख संगत ने काफी आकर्षक ढंग से पालकी को सजाया था। इस सवारी के आगे पंच प्यारे की भूमिका में अमरजीत सिंह काके, गोल्डी भाटिया, इंदरजीत एक जैसी वेषभूषा में उपस्थित थे। सवारी के आगे सिख संगत के कार्यकर्ता सड़क धोने झाड़ू से मार्ग साफ करने की सेवा कर रहे थे। शोभा यात्रा के साथ नगर कीर्तन के इस के कार्यक्रम में गुरुद्वारे का शब्दी जत्था भी उपस्थित था। शोभा यात्रा में सबसे आगे निशान साहेब के साथ अवनित भाटिया चल रहे थे।

सीतापुर के बेदी ढोलकी और विभिन्न वाद्ययंत्रों के साथ बेहद अनुशासित रूप से पूरी संगत आगे बढ़ रही थी। वीर खालसा गतका ग्रुप, स्मार्ट इंटरनेशनल गतका एकेडमी के युवकों ने युद्ध कौशल का प्रदर्शन शानदार ढंग से किया। गुरुद्वारा गुरुसिंह सभा से निकलकर शोभायात्रा के साथ सिख संगत सबसे पहले जशपुर रोड गई। यहां अन्य समुदाय के लोगों ने भी गुरुग्रंथ साहेब का आत्मीय स्वागत कर संगत के लिए स्वलपाहार की व्यवस्था कराई थी।

शोभायात्रा में सीतापुर, धरमजयगढ़, कांसाबेल से भी सिख संगत काफी बड़ी संख्या में शामिल हुई थी।

दिखा सांप्रदायिक सौहार्द्र

गुरुग्रंथसाहेब की शोभायात्रा एवं नगर कीर्तन के कार्यक्रम में सांप्रदायिक सौहार्द के साथ प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का सफाई के संंदेश के प्रति जागरूक दिखे। यहां बस स्टैंड के इंदिरा चौराहा के समीप अग्रवाल सभा के युवकों ने गुरुग्रंथ साहेब का स्वागत करने के बाद पूरी संगत के लिए जलपान की व