पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

भास्कर न्यूज | जशपुरनगर

5 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
भास्कर न्यूज | जशपुरनगर

कोतबा चौकी क्षेत्र के रेंचुआघाट के मोड़ में तेज रफ्तार बोलेरो को वाहन चालक नहीं संभाल पाया। जिससे बोलेरो अनियंत्रित होकर करीब सौ फीट गहरी खाई में जा गिरी। इस घटना में वाहन में सवार पांच लोगों में से एक की मौत मौके पर ही हो गई। जबकि चार लोग बुरी तरह घायल हो गए हैं। गंभीर रूप से घायल चार घायलों को नजदीकी अस्पताल ले जाया गया। जहां से चिकित्सकों ने उन्हें रांची व ओडिशा के अस्पताल में रेफर कर दिया है।

तपकरा अंग्रेजी शराब दुकान के 5 कर्मचारी रविवार की रात को लैलूंगा से तपकरा बोलेरो में लौट रहे थे। शराब दुकान के कर्मचारी इस वाहन में शराब ले जा रहे थे। बताया जाता है कि चालक तेज गति से वाहन चला रहा था। आसपास के ग्रामीणों ने बताया कि वाहन की रफ्तार 100 किमी प्रतिघंटा से अधिक रही होगी। रेंचुआ घाट की एक मोड़ पर वाहन चालक ने वाहन पर से अपना नियंत्रण खो दिया और वाहन पहाड़ के किनारे से पलटते हुए सीधे नीचे खाई में जा गिरी। इस दुर्घटना में तपकरा शराब दुकान के कर्मचारी बिहार के औरंगाबाद के बरहेता निवासी राजबली सिंह पिता रामप्रसाद (55) की मौके पर ही मौत हो गई। दुर्घटना के बाद पहाड़ के नीचे की बस्ती के ग्रामीण मौके पर पहुंचे और घायलों को वाहन से बाहर निकाला। आसपास के लोगों की मदद से सभी घायलों को अस्पताल पहुंचाया गया। दुर्घटना में घायल अन्य लोगों के नाम पुलिस पता नहीं कर पाई है क्योंकि सभी गंभीर रूप से घायल हैं।

मोड़ पर नहीं हैं चेतावनी के बोर्ड
लवाकेरा से लैलूंगा तक करीब 40 किमी की सड़क का निर्माण करीब 40 करोड़ की लागत से दो वर्ष पहले ही किया गया था। सड़क बन जाने के बाद वाहनों की रफ्तार इस सड़क पर काफी ज्यादा होती है। वहीं स्टेट हाईवे में कहीं भी सुरक्षा के कोई इंतजाम नहीं है। घाटी या फिर अन्य मोड़ पर कहीं भी संकेत बोर्ड तक नहीं लगाया गया है। इसके अलावा सड़क किनारे पड़ने वाले स्कूल के पास न तो ब्रेकर हैं और न ही चेतावनी वाले संकेत बोर्ड। इससे अक्सर दुर्घटनाओं की आशंका बनी रहती है।

खबरें और भी हैं...