टावर लगाने के नाम पर धोखाधड़ी

Kanker News - भास्कर न्यूज . कांकेर ग्रामीणों से उनके जमीन पर मोबाइल टावर लगाने का झांसा देकर ठगी करने का मामला प्रकाश में आया...

Dainik Bhaskar

Jan 15, 2012, 02:01 AM IST
टावर लगाने के नाम पर धोखाधड़ी
भास्कर न्यूज . कांकेर
ग्रामीणों से उनके जमीन पर मोबाइल टावर लगाने का झांसा देकर ठगी करने का मामला प्रकाश में आया है। शहर के बरदेभाटा निवासी एक युवक तथा ग्राम कोदागांव के एक ग्रामीण के खिलाफ धोखाधड़ी करने की शिकायत शनिवार को पुलिस से की गई। जानकारी के अनुसार इस तरह की ठगी और भी बहुत से ग्रामीणों के साथ करने की बात भी सामने आ रही है। पुलिस ने शिकायत के आधार मामले की जांच शुरू कर दी है। ग्राम कोंदागांव निवासी 49 वर्षीय सवलूराम तेता पिता धनसिंह तथा ग्राम डंवरखार निवासी देवराज पोया पिता घासीराम टावर लगाने का प्रलोभन देकर उनके साथ ठगी होने की शिकायत दर्ज करने शनिवार को पुलिस अधीक्षक कार्यालय पहुंचे।
शिकायतकर्ता सवलूराम ने बताया कि गत वर्ष फरवरी माह में ग्राम कोदागंाव निवासी हरिशचंद्र ओगरे पिता दुवारू राम उसके घर पहुंचा तथा प्रस्ताव रखा की गांव में एयरटेल कंपनी का टावर लगने वाला है तथा वह अगर अपने निजी पट्टे के भूमि पर टावर लगाने देगा तो उसके एवज में कंपनी हर माह 7 हजार रुपए किराया देगी। साथ ही टावर की देखरेख करने पर चौकीदारी के लिए 4200 रुपए अलग से दिया जाएगा। यह भी कहा की टावर लगवाने के एवज में किसान को 20 हजार रुपए जमा करना पड़ेगा। अच्छी खासी रकम मिलने तथा पड़ोसी होने पर उसे भरोसा हो गया तथा वह तैयार हो गया।
इसके बाद यही प्रस्ताव सवलु राम के दामाद ग्राम डंवरखार निवासी देवराज पोया के समक्ष रखा तो उसने भी सहर्ष स्वीकार कर लिया और दोनों ने बीस-बीस हजार रुपए दे दिए। तीन माह में टावर लग जाने का आश्वासन दिया तथा बताया की कंपनी में काम करने वाले कांकेर शहर के बरदेभाठा निवासी एक अधिकारी के साथ उसकी सेटिंग है तथा शीघ्र ही काम करा देगा। तीन महीनों बाद भी ना तो टावर लगा और ना ही उन्हें किराया मिलना शुरू हुआ तब उन्हे अपने साथ हुई ठगी का एहसास हुआ। इसके बाद दोनों किसान कई बार अपने दिए हुए पैसों की मांग कर चुके है लेकिन हमेशा मोबाइल टावर लगाए जाने का ही आश्वासन मिलता रहा। पड़ोसी ने उन्हें बरदेभाटा निवासी रंजनसिंह ठाकुर नाम के व्यक्ति से भी मिलवाया जिसे वह एयरटेल कंपनी को मैनेजर बता रहा था उसने भी शीघ्र ही टावर लगवाने का आश्वासन दिया। पुरा साल भर बीतने के बाद भी जब उन्हें पैसे नहीं मिले तो पुलिस अधीक्षक कार्यालय शिकायत करने पहुंचे।
शिकायतकर्ताओं ने कहा कि पूरे मामले की जांच की जाए
तथा उनसे पैसे लेने वाले पड़ोसी तथा स्वयं को एयरटेल का मैनेजर बताने वाले के खिलाफ कड़ी कार्रवाई करते उनके पैसे लौटाए जाएं। ठगी का शिकार हुए दोनों ग्रामीणों ने यह भी बताया कि मोबाइल टावर लगाने के नाम पर उनके अलावा और भी बहुत से लोगों के साथ धोखाधड़ी की गई है।
महंगा पड़ा रिचार्ज करना
कांकेर . एक अन्य मामले में ग्राम सिंगारभाठ के किराना व्यवसायी 42 वर्षीय भागवत राम सिन्हा पिता फगनु मोबाइल रिचार्ज का काम भी करता हैं। इनके पास 13 दिसंबर को दोपहर 1 बजे एक मोबाइल नंबर 8298186590 से एक अज्ञात व्यक्ति का फोन आया तथा कहा की वह एयरटेल कंपनी में काम करता है तथा उसके पास रिटेलरों के लिए अच्छी स्कीम है। इसके बाद उसने तीन नंबर दिए तथा कहा की तीनों नंबरों पर जितने का रिचार्ज करेंगे उसका डबल रिजार्च कंपनी द्वारा लौटाया जाएगा।
बहकावे में आकर भागवत राम ने अपने रिचार्ज करने वाले मोबाइल से 1670 रुपए बताए हुए तीनों नंबर 9801991697 पर एक हजार, 8670512931 में 555 पर और तीसरे नंबर 81165679246 पर 120 रुपए रिचार्ज कर दिया। इसके बाद उक्त अज्ञात व्यक्ति ने फिर से फोन करके तीनों रिचार्ज किए गए मोबाइल नंबरों को अपने मोबाइल से डिलीट करने को कहा, जिसके बाद रिटेलर को अज्ञात व्यक्ति पर शंका हुई। उक्त अज्ञात व्यक्ति रिटेलर भागवत को और भी रिचार्ज करने का प्रलोभन देने लगा लेकिन इसके बाद भागवत राम उसकी बातों में नहीं आया। तत्काल उसने एयरटेल कंपनी के ड्रिस्टीब्यूटर निपेंद्र पटेल को घटना की जानकारी दी तो पता चला की इस तरह का कोई आफर कंपनी ने जारी नहीं किया है तथा उसके साथ किसी ने धोखा किया है। पीडि़त रिटेलर भागवत राम ने मामले की लिखित शिकायत कांकेर पुलिस थाने में दर्ज कराई है।
X
टावर लगाने के नाम पर धोखाधड़ी
COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना