पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • आंगनबाड़ी के बच्चों को मिलर्स पिलाएंगे दूध

आंगनबाड़ी के बच्चों को मिलर्स पिलाएंगे दूध

7 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
जिलेके 1050 आंगनबाडि़याें में 15 हजार कुपोषित बच्चे हंै। इन बच्चों को सामान्य श्रेणी में लाने के लिए कलेक्टर भीमसिंह प्रयासरत हैं। पहल को सफल बनाने योजना तैयार किया जा रहा। साथ ही महिला बाल विकास विभाग की बैठक में समीक्षा भी की जा रही। गुरूवार को जिला पंचायत सभाहाल में हुई बैठक में कई महत्वपूर्ण निर्देश दिए गए। सुपोषित मित्र से जुड़े कालेज छात्रों नेहरू युवा केन्द्र के युवाआें को आंगनबाडि़यों के निरीक्षण पर जोर देने कहा गया।

6 माह के भीतर 15 हजार बच्चों का कुपोषण दूर करने का टार्गेट दिया गया। पूरा नहीं करने पर सुपरवाईजर का एक वेतनवृद्धि रोकने की चेतावनी दी गई। कुपोषित बच्चे, सुपोषण मित्र महिला स्वसहायता समूह का लिस्ट पांच दिन में अपलोड करने सुपरवाईजर को निर्देशित किया गया। अन्यथा वेतन रोकने की कार्रवाई होगी।

कलेक्टर ने कहा कि जिले के 170 आंगनबाडियों में 6 हजार बच्चों के लिए राईस मिलर्स दूध की व्यवस्था करेंगे। शहर के 37 आंगनबाडियों में डाक्टरों को सेवा देने दूध की व्यवस्था करने के लिए कहा गया है।

15 हजार का इनाम

कलेक्टरने कहा कि ऐसी कार्यकर्ता जिनके केेन्द्र में 30 बच्चे कुपोषित हंै और उसमें से 90 फीसदी बच्चे को 6 माह में सामान्य श्रेणी में लाते हैं तो कार्यकर्ता को 15 हजार रू इनाम दिया जाएगा।