पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • गुरुनानक देव के जन्मोत्सव पर शोभायात्रा निकाली

गुरुनानक देव के जन्मोत्सव पर शोभायात्रा निकाली

7 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
गुरुनानककी 546वीं जयंती सिंध धर्मशाला गोविंदपुर गुरुद्वारा में हर्षोल्लास से मनाई गई। दोनों ही जगह आयोजित इस धार्मिक कार्यक्रम में अन्य समाज के लोग भी बड़ी संख्या में पहुंचे। शाम को शहर में संत गुरुनानक की शोभायात्रा भी धूमधाम से निकाली। प्रकाश पर्व को लेकर सुबह से रात तक विविध धार्मिक आयोजन हुए।

सबसे पहले सुबह 9 बजे सिंधी धर्मशाला से बाईक रैली निकाली गई। रैली में शामिल युवाओं ने पूरे शहर का भ्रमण करते रास्ते भर गुरुनानक के जयकारे लगाए। इसके बाद भोग साहेब तथा आरती की गई तथा श्रध्दालुओं को प्रसाद वितरण किया गया। दोपहर 1 से 3 बजे तक सिंधी धर्मशाला में लंगर का आयोजन हुआ जिसमे समाजजन के साथ अन्य समाज के लोग भी शरीक हुए। लंगर में शामिल होने विद्यायक शंकर धुव्रा, प्रदेश कांग्रेस महामंत्री राजेश तिवारी, जिला भाजपा अध्यक्ष भरत मटियारा, भाजपा नेता हलधर साहू, शालनी राजपूत, निर्मला नेताम, कांग्रेस नेता सुशील शर्मा, जितेंद्र सिंह ठाकुर, चेंबर आफ कार्मस नेता महिपाल मेहरा, अरुण कौशिक पहुंचे और समाजजनों को पर्व की बधाई दी। शाम 5 बजे के बाद समाजजनो ने सिंध समाज गुरूद्वारा से धूमधाम से शोभायात्रा निकाली।

शोभायात्रा ने पूरे शहर का भ्रमण किया तथा हनुमान चौक में आतिशबाजी का आयोजन किया। कार्यक्रम में मनोहर लाल मंगलानी, नारायण दास केवलरामानी, संतराम दास पंजाबी, संतराम दास पंजाबी, जयराम आसरानी, राजकुमार पंजाबी, संजय खटवानी, राजा देवनानी, विशाल मोटवानी, अनिल हिरदानी, राजकुमार फब्यानी, राजकुमार लच्छानी, बलराम अहूजा, लक्ष्मीचंद फब्यानी, शिवराज मोटवानी, रवि बुधवानी, दीपक खटवानी,निकीता खटवानी, सीमा मोटवानी, ज्योति आसरानी, सुमन देवनानी, सुमन माखिजा, प्रीत मोटवानी, एकता माखिजा, नेहा अहूजा ने योगदान दिया।

गोविंदपुर गुरुद्वारा में भी आयोजन

गोविंदपुरगुरुद्वारा में भी प्रकाश पर्व धूमधाम से मनाया गया। सुबह 9 बजे से भोग साहेब हुआ फिर भजन कीर्तन हुआ। गुरुद्वारा में माथा टेकने सिख समाज के साथ अन्य कई समाज के लोग भी पहुंचे। पूजन के बाद लंगर हुआ। कार्यक्रम में सेवादार हरिंदर सिंह, हरनेक सिंह औजला, किशोर वात्यानी, राजेंद्र वात्यानी, नारद सिंह राजपूत, अमित राठौर, मनीष राठौर, मनीष साहू, राजेश भाषवानी, सुशीला, हेमीन वर्मा, केशर राजपूत, तारा, कमला, तरणजीत, मनजीत कौर, सुमन भाषवानी आदि ने योगदान दिया।