सिटी रिपोर्टर

5 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
सिटी रिपोर्टर राज्य के सात किसानों को दुर्लभ किस्म की सब्जी, फल, फूल और अनाज की वैरायटी संरक्षण करने के लिए बुधवार को दिल्ली में पुरस्कृत किया गया। केंद्रीय कृषि मंत्री राधामोहन सिंह ने किसानों को प्लांट जिनोम सेविनियर अवाॅर्ड देते हुए कहा कि देश के नक्शे में छत्तीसगढ़ हर क्षेत्र में उभरता राज्य है। किसानों की संरक्षित देशी प्रजातियां अन्य राज्यों में भी विकसित की जा सकेंगी। इससे किसानों को आर्थिक लाभ होगा। साथ ही साइंटिस्ट को आर्गेनिक और प्रोडक्शन पर रिसर्च करने की जरूरत है।

इंदिरा गांधी कृषि विवि के आनुवांशिकी एवं पौध प्रजनन विभाग के प्रमुख वैज्ञानिक और नोडल अधिकारी डॉ. दीपक शर्मा बताते हैं कि राज्य के किसान काफी प्रगतिशील हैं। कृषि में देशी प्रजातियों का ज्यादा से ज्यादा विकास हो इसके लिए सालों से प्रजातियों का संरक्षण कर रहे हैं। अवाॅर्ड से पहले ये सभी वैरायटी प्रोडक्शन ऑफ प्लांट वैराइटी एंड फार्मर राइट्स अथॉरिटी नई दिल्ली से अप्रूव हुई है। ट्रेडिशनल वैरायटियों का टेस्ट कर रजिस्ट्रेशन हुआ। फिर सर्टिफिकेट जारी कर 15 साल तक रायल्टी देते हैं। राज्य के लिए यह गर्व की बात है कि देश में प्लांट जिनोम सेविनियर अवाॅर्ड कुल 16 किसानों को दिया गया। इसमें सात किसान छत्तीसगढ़ से हैं। पिछले वर्ष दुर्ग के धरोहर समिति को यह अवाॅर्ड मिला था।

इन किसानों को मिला सम्मान
साल में दो बार आम के फल
दुर्ग जिले के अचानकपुर गांव के किसान रोहित साहू ने आमों के दुर्लभ प्रजातियों का सरंक्षण किया है। ये प्रजाति से वर्ष में दो बार फल की पैदावार होती है। रोहित किसानों के बीच जाकर इसके पौधे बांटते हैं।

देशी गुलाब में खुशबू ज्यादा
बलरामपुर जिले के महराजनगर के किसान निताई मिस्त्री ने पुष्पों के संरक्षण में अद्भुत काम किया है। इनके पास देशी फूलों की सैकड़ों प्रजातियां है। इनमें गुलाब की एक दर्जन प्रजाति है जिसकी खुशबू और आकार अन्य गुलाब से ज्यादा है।

औषधीय पौधों का संरक्षण
जगदलपुर के किसान कमल किशोर कश्यप औषधीय पौधों का संरक्षण किया है। इनके पास सैकड़ों वर्ष पुरानी औषधीय पौधे हैं।

इमली, बेर की सैकड़ों किस्म
जांजगीर चांपा के रामप्रकाश केशरवानी ने देशी इमली और बेर की तीन सौ से ज्यादा वैरायटी संरक्षित की है। राज्य में इन दोनों चीजों की काफी उपयोगिता है। वहीं इमली की डिमांड विदेशों तक है।

अनाज के बीजों का संरक्षण
राजनांदगांव के मनजी सिंह सलूजा, बीजापुर के बुधराम कश्यप और दंतेवाड़ा के किसान बोसाराम आटमी ने धान, चना, मटर और गेहूं जैसे अन्य अनाज के बीजों का संरक्षण किया है। ये देशी वैरायटी खाने की दृष्टिकोण से काफी बेहतर है।

केंद्रीय कृषि मंत्री राधा मोहन सिंह ने किया पुरस्कृत, 16 पुरस्कारों में 7 छत्तीसगढ़ के किसानों को मिला
प्लांट जिनोम सेविनियर अवाॅर्ड से सम्मानित हुए सात किसान
दिल्ली में आयोजित कार्यक्रम में किसान रोहित साहू को पुरस्कृत करते केंद्रीय कृषि मंत्री राधामोहन सिंह।

खबरें और भी हैं...