60 फीट ऊंचाई में काम, पर सुरक्षा उपकरण नहीं / 60 फीट ऊंचाई में काम, पर सुरक्षा उपकरण नहीं

Korba News - लोगों की प्यास बुझाने के लिए 60 फीट की ऊंचाई पर पानी टंकी निर्माण का कार्य ठेका मजदूर कर रहे हैं। पर उन्हें सुरक्षा...

Bhaskar News Network

Aug 23, 2016, 02:20 AM IST
60 फीट ऊंचाई में काम, पर सुरक्षा उपकरण नहीं
लोगों की प्यास बुझाने के लिए 60 फीट की ऊंचाई पर पानी टंकी निर्माण का कार्य ठेका मजदूर कर रहे हैं। पर उन्हें सुरक्षा से संबंधित कोई उपकरण उपलब्ध तक नहीं कराया गया है। नगर निगम की देखरेख में ठेका कंपनी यह काम कर रही है। पुलिस विभाग ने इसे गंभीरता से लेते हुए ठेकेदार प्रतिनिधि को तलब कर फटकार लगाते हुए हिदायत दी है। अब श्रम और हेल्थ एंड सेफ्टी डिपार्टमेंट ने भी इस मामले की जांच करने की बात कही है।

नगर निगम क्षेत्र में ओवर हेड टंकी का निर्माण कराया जा रहा है। पिछले साल भर से अलग-अलग क्षेत्रों में टंकियां बनाने में मजदूर जुटे हुए हंै। लेकिन उन्हें सुरक्षा के नाम पर ठेकेदार ने कोई भी उपकरण उपलब्ध नहीं कराया है। इन मजदूरों के मुताबिक उन्हंे दूसरे राज्य से लाया गया है। हमेशा वे कार्य के दौरान दुर्घटना को लेकर आशंकित रहते हैं। सेफ्टी बेल्ट और हेलमेट की मांग भी करते हैं। लेकिन उन्हें उपलब्ध कराना तो दूर हमेशा चुप करा दिया जाता है। ऊपर पहले पिल्लर का निर्माण किया गया। इसके लिए सटरिंग और ढलाई भी किया जाता है। अपनी सुरक्षा के लिए अगर स्ट्रक्चर को पकड़कर रखते हैं तो वे काम नहीं कर पाएंगे। ऐसे में सेफ्टी बेल्ट का प्रावधान एक्ट में किया गया है। ताकि बेल्ट को स्ट्रक्चर के हुक पर लगा दिया जाए तो दुर्घटना होने पर भी नीचे गिरने की संभावना नहीं रह जाती। इसके अलावा हेलमेट की भी अनिवार्यता रखी गई है पर इन्हें सुरक्षा के उपकरण नहीं दिलाए गए हैं।

सुरक्षा के बिना कार्य कराना नियमों के विपरीत


मामले की जांच कराकर दोषियों पर कार्रवाई करेंगे


सुरक्षा उपकरण के बिना कार्य कराना गंभीर मामला


पुलिस के बाद अन्य विभागों ने लिया है संज्ञान में

सबसे पहले बालको के परसाभाठा में बनाए जा रहे टंकी स्थल पर टीआई यदुमणी सिदार पहुंचे। उन्होंने मौका मुआयना किया और सुरक्षा उपकरण के बिना कार्य कर रहे मजदूरों को लेकर सुपरवाइजर को कड़ी फटकार लगाई। साथ ही ठेकेदार को उन्होंने तलब भी किया। उन्हें सख्त हिदायत दी कि मजदूरों को सुरक्षा उपकरणों के अलावा नीचे जाल भी लगाए। इसके बाद सहायक श्रमायुक्त विकास सरोदे ने निरीक्षण के लिए अपने एक लेबर इंस्पेक्टर को मौके पर भेजा।

भवन सन्निर्माण कर्मकार नियम के अधीन

भवन निर्माण व ऊंचाई पर कार्य करने वालों के लिए इस नियम में सुरक्षा के प्रावधान किया गया है। कर्मकार को उसके संरक्षण के लिए सुरक्षा बेल्ट व सुरक्षा लाइफ लाइन देना जरूरी है। साथ ही सुरक्षा जाल पर्याप्त लगाना भी जरूरी है। जो मजबूत सामग्री का बना हो और राष्ट्रीय मानकों के अनुरूप हो। इसकी व्यवस्था कार्यस्थल पर करना अनिवार्य है।

जिम्मेदार की देखरेख में कार्य का प्रावधान

कर्मकार नियम में स्पष्ट उल्लेख है कि किसी उत्तरदायी व्यक्ति द्वारा पर्यवेक्षण जरूरी है। भवन निर्माण स्थल या अन्य स्थल पर नियोजक यह सुनिश्चित करेगा कि किसी स्ट्रक्चर को बनाने या उसके जोड़ने या परिवर्तित करने या खोलने के दौरान किसी जिम्मेदार व्यक्ति की उपस्थिति जरूरी है। यानी तकनीकी रूप से जानकार होना जरूरी है। किसी इंजीनियर को ही तकनीकी रूप से विशेष माना जाता है। लेकिन जो कार्य चल रहे हैं वहां इंजीनियर तो दूर एक सुपरवाइजर की देखरेख में पूरा काम चल रहा है। यहां आज तक सुरक्षा के कोई भी उपकरण प्रदान नहीं किए गए हैं।

X
60 फीट ऊंचाई में काम, पर सुरक्षा उपकरण नहीं
COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना