पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • आंवला पूजा के बाद भोजन और रहचुली का लुत्फ

आंवला पूजा के बाद भोजन और रहचुली का लुत्फ

7 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
कोडारबांध स्थित खल्लारी मंदिर में कार्तिक पूर्णिमा के अवसर पर आंवला पूजा कार्यक्रम का अायाेजन किया गया। आयोजन सुबह 11 बजे के बाद लगभग 15 हजार श्रद्धालुओं के लिए भोजन प्रसाद का वितरण किया गया। कार्यक्रम में आंचलिक लोक नर्तक दलों ने लोकनृत्य, गीत, संगीत का भी आयोजन किया गया। जय मांं तुलसी सुआ नृत्य पिरदा, जय गौरी गौरा सुआ पार्टी बाैसकूदा, शिव शक्ति मानस मंडली बेलटुकरी, तुलसी के मानस मंडली मालीडीह एवं पिरदा, गुडरूडीह के जसगीत का आयोजन किया गया। लोगों ने रहचुली झूले का भी खूब आनंद लिया। इस वर्ष श्रद्धालुओं की अप्रत्यक्षित भीड़ ने मेला का स्वरूप ले लिया। कार्यक्रम में पूर्व विधायक अग्नि चंद्राकर मुख्य अतिथि के रूप मंे उपस्थित थे। उक्त जानकारी राजेश्वर खरे ने दी है।

यहां भी आंवला पूजन

कुशाभाऊठाकरे उद्यान में भी आंवला पूजन का कार्यक्रम रखा गया। जिसमें वार्ड नंबर 2 की महिलाएं बच्चे शामिल हुए। कार्यक्रम के दौरान वीणा चंद्राकर, मनीषा शर्मा, शशि शर्मा, निकिता जैन, सोनल शर्मा, साक्षी, आदित्य, अभिनव, सत्यम, आकाश, मीनाक्षी, अभिषेक, रचित आदि मौजूद थे। इसी तरह स्वाध्याय केंद्र के पास शासकीय आवास के लोगों ने आंवला नवमीं का कार्यक्रम रखा। जिसमें महिला एवं पुरूषों ने आंवला वृक्ष का पूजन कर प्रसाद ग्रहण किया।