पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App
  • Hindi News
  • My Application Pending Minister Raging In The List

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

अपनी अर्जी पेंडिंग लिस्ट में देख भड़के मंत्री जी!

9 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
बिलासपुर। नगरीय निकायों की समीक्षा करने बैठे नगरीय प्रशासन मंत्री अमर अग्रवाल उस समय नाराज हो उठे, जब उन्हें अपने बंगले में बन रहे कमरे के नक्शे की अर्जी नगर निगम की पेंडिंग लिस्ट में मिली। नक्शे के आवेदनों में अनावश्यक देर और रिश्वतखोरी की शिकायतों से भड़के मंत्री ने निगम के एसई ओपी तिवारी व सब इंजीनियर श्याम मनोहर उज्जैनी को सस्पेंड करने की चेतावनी दी। कुछ घंटों बाद समझाइश देकर उन्हें बख्श दिया गया। इससे पहले अल्पसंख्यक आयोग के अध्यक्ष मुर्तजा वनक के भाई के मकान का नक्शा पास करने के लिए रिश्वत मांगने की शिकायत सामने आई थी। नगर निगम की भवन लाइसेंस शाखा को लेकर मंत्री को काफी दिनों से शिकायतें मिल रही थीं। समीक्षा बैठक में बिलासपुर नगर निगम की बारी अंतिम में आई। जैसे ही भवन लाइसेंस पर चर्चा हुई, मंत्री ने मकान नक्शे के लिए नागरिकों को भटकाने और घूस मांगने की शिकायतों के बारे में पूछा। उन्होंने सीधे पूछा, उज्जैनी कौन है? भवन लाइसेंस शाखा का रवैया बहुत खराब है। इसके बाद उन्होंने सब इंजीनियर श्याम मनोहर उज्जैनी को सस्पेंड करने के आदेश दिए। विभाग के प्रभारी एवं एसई ओपी तिवारी से मंत्री ने पूछा कि अब तो लेनदेन के लिए पेट्रोल पंप जैसी सार्वजनिक जगह पर भी झगड़े होने लगे हैं? उन्होंने फिर सवाल किया कि मकान नक्शा पास करने के लिए 10 हजार रुपए मांगे गए थे? मंत्री श्री अग्रवाल ने बताया कि उनके राजेंद्र नगर स्थित आवास की पहली मंजिल में एक कमरा बनाने के लिए नक्शा पास करने में 20 दिन लगा दिए गए और रजिस्ट्री के कागजात और लेंड यूज का सर्टिफिकेट तक मांगा गया। मंत्री ने दो टूक कहा कि यह बेहद शर्म की बात है। उनके आर्किटेक्ट ने नक्शा पास करने में देरी की शिकायत की है। जब मंत्री को अपने ही मकान के नक्शे के लिए पसीना बहाना पड़ेगा तो आम लोगों की समस्याओं का निराकरण कैसे होगा? इसके बाद मंत्री ने एसई को भी सस्पेंड करने के आदेश दिए। 29 जून को दी थी अर्जी नगर निगम की भवन लाइसेंस शाखा में नगरीय प्रशासन मंत्री के राजेंद्र नगर स्थित मकान के प्रथम तल पर एक कमरा बनाने के लिए नक्शे का आवेदन 29 जून को दिया गया था। समीक्षा बैठक के लिए 30 जून की तारीख में भवन लाइसेंस शाखा की पेंडेंसी की जानकारी मंगाई गई थी। मंत्री के मकान नक्शे का आवेदन भी पेंडिंग लिस्ट में था। इस शाखा के अधिकारियों का दावा है कि 6 जुलाई को यह नक्शा पास कर दिया गया था, लेकिन इस बीच मकान नक्शे की फाइल रोककर अनावश्यक रूप से जमीन की रजिस्ट्री के कागजात व लेंड यूज का प्रमाण पत्र मांगा गया। नाराज मंत्री ने बैठक छोड़ी, प्रमुख सचिव ने पूछा किसने रोकी फाइल भवन लाइसेंस शाखा में चल रही भर्राशाही से नाराज मंत्री ने एसई से कई सवाल किए, लेकिन उनके मुंह से कोई जवाब नहीं निकला। इसके बाद नाराज मंत्री बैठक छोड़कर अंदर कमरे में चले गए। बैठक में मौजूद नगरीय प्रशासन आयुक्त संजय शुक्ला ने मंत्री के मकान नक्शे का आवेदन पेंडिंग सूची में देखकर उसका कारण जानना चाहा। उन्होंने कहा कि भवन लाइसेंस शाखा की काफी शिकायतें आ रही हैं। जो व्यक्ति नक्शा पास कराने आता है, उसे परेशान किया जाता है। जो बिना नक्शा पास कराए निर्माण कर लेते हैं, उन पर कोई कार्रवाई नहीं की जाती? प्रमुख सचिव अजय सिंह ने पूछा कि फाइल किसने रोकी? क्या परेशानी थी। एसई तिवारी ने सफाई दी कि उन्होंने एक ही दिन में फाइल आगे बढ़ा दी थी। इसके बाद रजिस्ट्री व लेंड यूज के कागजात मांगे गए थे।

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- वर्तमान परिस्थितियों को समझते हुए भविष्य संबंधी योजनाओं पर कुछ विचार विमर्श करेंगे। तथा परिवार में चल रही अव्यवस्था को भी दूर करने के लिए कुछ महत्वपूर्ण नियम बनाएंगे और आप काफी हद तक इन कार्य...

और पढ़ें