• Hindi News
  • National
  • आयुर्वेदिक कॉलेज में डेवलप किया गया फिजियो थैरेपी सेंटर, कई बड़ी बीमारियों का किया जा रहा है इलाज,

आयुर्वेदिक कॉलेज में डेवलप किया गया फिजियो थैरेपी सेंटर, कई बड़ी बीमारियों का किया जा रहा है इलाज, स्टीम बाथ से कर सकते हैं वेट लॉस

4 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
नई टेक्नोलॉजी की मशीनों और एक्सपर्ट्स की गाइडेंस में रायपुरियंस अब फिजियोथैरेपी ले सकते हैं। आयुर्वेदिक कॉलेज में फिजियोथैरेपी सेंटर तैयार किया गया है। सेंटर के लिए लगभग 16 लाख रुपए में 50 ऐसी मशीनें मंगवाई गई हैं, जिनके जरिए कई फिटनेस प्राॅब्लम का ट्रीटमेंट किया जा सकता है।

मोटापे से परेशान लोगों के लिए खासतौर पर स्टीम बाथ मशीन भी यहां अवेलेबल है। इसमें पेशेंट को तब तक भाप दी जाती है, जब तक फोर हेड पर पसीना न आ जाए। बॉडी से पसीना निकलने से फैट दूर होता है। वेट कंट्रोल रखने में इससे मदद मिलती है। इससे पैरालाइज, मसल्स, नसों और हड्डियों की तकलीफ वाले पेशेंट को भी फायदा मिल रहा है। डॉ. हीरेन मोहन शुक्ला ने बताया कि पेशेंट को उनकी बीमारी के अनुसार 7 से 21 दिन का ट्रीटमेंट दिया जा रहा है। सुबह 8 से 2 बजे तक कोई भी यहां आकर एक्सपर्ट्स से कंसल्ट और ट्रीटमेंट ले सकता है। डॉ. रंजीप कुमार दास और डाॅ. नील माधव घोष ने बताया कि एक्सरसाइज और इलेक्टोथैरेपी के दो सेक्शंस बनाए गए हैं। एक्सरसाइज थैरेपी में बाइसिकल, मोटोराइज ट्रेडमिल, मैनुअल ट्रेडमिल, ट्रम्बल, एरोबिक्स बॉल है। इलेक्ट्रो थैरेपी में अल्ट्रा साउंड, शार्ट वे डायफार, वैक्यूम थैरेपी, लेजर ट्रीटमेंट सहित कई दूसरी मशीनें अवेेलेबल हैं। इलेक्ट्रो थैरेपी में नसों की बीमारी, हड्डी आैर मसल्स की बीमारी का ट्रीटमेंट किया जाता है।

योग सेंटर भी शुरू सिखा रहे निशुल्क
हॉस्पिटल में योग सेंटर भी डेवलप किया गया है। यहां हर रोज योग की क्लास ट्रेनर डाॅ. सुनीता जैन ले रही हैं। इस निशुल्क योग क्लास में लोगों को सुबह 6:30 बजे से याेग कराया जाता है। खास बात ये है कि लोगों को उनकी तकलीफ और बीमारी के अुनसार योगासन बताकर ट्रीटमेंट किया जा रहा है। नेचुरल एयर के बीच पावर योग, ध्यान एसोबिक्स और बंध मुद्रा कराई जाती है। यहां प्रशिक्षुओं के लिए मैट की व्यवस्था भी की गई है।

एक्सपर्ट्स की गाइडेंस में की जा रही है फिजियोथैरेपी।

इसी स्टीम बाथ मशीन से कर रहे फैट लॉस।

फिजियो प्रॉब्लम्स के एडवांस ट्रीटमेंट के लिए 16 लाख में 50 मशीनों से शुरू किया सेंटर
Good News

खबरें और भी हैं...