पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • आउटर की राशन दुकानों में बड़े घपले

आउटर की राशन दुकानों में बड़े घपले

7 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
शहरकी सौ से ज्यादा राशन दुकानों में कोर पीडीएस लागू होने के बाद घपले कुछ कम हुए, लेकिन आउटर तथा राजधानी से लगी ग्रामीण दुकानों में लाखों के घपले फूटने लगे हैं। हाल में हेराफेरी के मामले में नरदहा राशन दुकान संचालक के खिलाफ एफआईआर हुई थी। गुरुवार को चपरीद की राशन दुकान में लाखों रुपए की गड़बड़ी करने वाले सरपंच समेत लगभग पूरी पंचायत के खिलाफ एफआईआर के निर्देश दिए गए हैं।

राजधानी की राशन दुकानों में कोर पीडीएस लागू होने की वजह से राशन की पूरी जानकारी ऑनलाइन दर्ज कराई जा रही है। इस वजह से अफसरों को लगातार इस बात की जानकारी रहती है कि गोदामों से राशन कब निकला और दुकानों में कब पहुंचा। इस वजह से इस काम में गड़बड़ी की संभावना कम हो गई है, लेकिन जिले के गांवों की राशन दुकानों में लगातार गड़बड़ी की शिकायत मिल रही है। खाद्य विभाग की टीम ने अब तक खरोरा, तिल्दा, धरसींवा, अभनपुर की कई राशन दुकानों में गड़बड़ी पकड़ी है। इसमें अभनपुर के एक पार्षद की ओर से फर्जी राशन कार्डों में राशन निकालने का मामला भी शामिल है। इस पार्षद के खिलाफ एफआईआर भी दर्ज कराई गई है। विभाग के अफसरों ने बताया कि वर्तमान समय में एक दर्जन से ज्यादा राशन दुकानों की जांच चल रही है, जिनके खिलाफ कभी भी एफआईआर दर्ज कराई जा सकती है। जांच कर रहे खाद्य अफसर संजय दुबे और आरसी गुलाटी ने बताया कि चपरीद राशन दुकान को वहां की ग्राम पंचायत संचालित करती थी।



ग्राम पंचायत की ओर से 2010 में पंचायत के सरपंच ने उपसरपंच, पंच और पंच पतियों को हर साल पांच-पांच की संख्या में राशन दुकान संचालित करने का अधिकार दिया गया था। गड़बड़ी की शिकायत मिलने पर जांच टीम ने राशन का ब्योरा मांगा, तब खुलासा हुआ। पता चला कि पंचायत पदाधिकारियों ने बगैर कार्ड के 15 क्विंटल राशन दूसरी जगहों पर बेच दिया। बीपीएल राशन कार्डों की शक्कर आपस में बांट ली गई। जांच रिपोर्ट में हेराफेरी के सभी प्रमाण मिलने की वजह से कलेक्टर ने सभी के खिलाफ एफआईआर कराने के निर्देश दे दिए।

दो सरपंच, एक उपसरपंच 10 पंच, तीन पंच पति फंसे

आरंगके चपरीद गांव की राशन दुकान में भारी गोलमाल करने वाले चपरीद पंचायत के सरपंच, उपसरपंच, दस पंचों और तीन पंच पतियों के खिलाफ आरंग थाने में एफआईआर दर्ज कराई जाएगी। गांव की राशन दुकान में लाखों रुपए की हेराफेरी करने वाले पंचायत पदाधिकारिय